10th के बाद क्या करे?

हाई स्कूल का अंत कभी-कभी चिंता का समय होता है। 10th के बाद कॉलेज प्लानिंग, अप्रेंटिसशिप प्रोग्राम, वर्क-स्टडी सहित विभिन्न रास्ते प्रदान करने के लिए इस लेख को बनाया गया है।

10वीं परीक्षा पास करने के बाद बहुत से छात्र इस उलझन में रहते हैं कि आखिर दसवीं के बाद कौन सा सब्जेक्ट साइंस/कॉमर्स या फिर आर्ट्स हमारे लिए बेस्ट होगा। क्योंकि दसवीं कक्षा को पास करने के बाद विद्यार्थी आगे जिस सब्जेक्ट को लेते हैं, वहीं उनके फ्यूचर की नींव रखता है।

लेकिन “हाई स्कूल के बाद क्या करे“, हमारे पास इस बारे में सोचने के लिए काफी कम टाइम होता है कि 10th के बाद कौन सा सब्जेक्ट ले? ऐसे में आपको इस परेशानी का सामना ना करना पड़े, इस आर्टिकल में हमने आपको Best Career Advice देने हेतु, 10th के बाद क्या करे अथवा दसवीं के बाद कौन सा सब्जेक्ट लें इसकी पूरी जानकारी दी है।

दसवीं के बाद क्या करे?

लगभग सभी स्टेट में हमारे देश में दसवीं की कक्षा में एक ही सिलेबस की पढ़ाई करवाई जाती है। जैसे ही विद्यार्थी दसवीं की कक्षा को पास कर लेते हैं तो उसके बाद उन्हें अलग-अलग सब्जेक्ट में से किसी एक सब्जेक्ट का सिलेक्शन करना होता है,जो उनके कैरियर के लिए काफी ज्यादा महत्वपूर्ण डिसीजन साबित होता है। यहाँ से आप 12th के बाद क्या करे पढ़ सकते है।

10th ke baad kya karen

दसवीं की कक्षा को पास करने के बाद सामान्य तौर पर व्यक्ति के सामने तीन सब्जेक्ट सामने आते हैं, जिनमें से उन्हें किसी एक का चयन करना होता है, जो इस प्रकार है।

  1. साइंस
  2. आर्ट्स
  3. कॉमर्स

10 के बाद कौन सा सब्जेक्ट ले?

हम जिस किसी भी सब्जेक्ट का सिलेक्शन करते हैं उसकी पढ़ाई हमें 11वीं और 12वीं कक्षा में 10वीं की कक्षा को पास करने के बाद करनी होती है। और इन्हीं सब्जेक्ट के आधार पर हम 12वीं कक्षा को पास करने के बाद अपनी कॉलेज की पढ़ाई करने के लिए एडमिशन लेते हैं, चलिए आपको विस्तार से इस बारे में बताते हैं कि दसवीं के बाद कौन सा सब्जेक्ट लेना चाहिए या फिर 10 के बाद क्या करना चाहिए?

10th के बाद साइंस

लगभग अधिकतर स्टूडेंट की पसंद साइंस विषय होता है। अगर आपको भविष्य में इंजीनियर या फिर डॉक्टर बनने की इच्छा है तो आपको साइंस की फील्ड का सिलेक्शन दसवीं की कक्षा को पास करने के बाद करना चाहिए।

साइंस के सब्जेक्ट की पढ़ाई थोड़ी सी हार्ड होती है और इसका अधिकतर सिलेबस अंग्रेजी भाषा में ही होता है। साइंस में सब्जेक्ट में टोटल तीन प्रकार के सब्जेक्ट होते हैं, जो इस प्रकार है।

  • फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी, (PCB)
  • फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथ (PCM)
  • फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथ, बायोलॉजी (PCMB)

अगर आपको MBBS, BAMS, BHMS, B फार्मेसी, D फार्मेसी में करियर बनाना है तो दसवीं कक्षा को पास करने के बाद आपको साइंस के सब्जेक्ट में केमिस्ट्री, बायोलॉजी और फिजिक्स जैसे विषय लेने चाहिए।

वही अगर आपको दसवीं कक्षा को पास करने के बाद इंजीनियरिंग का कोर्स करना है तो आपको साइंस के सब्जेक्ट में फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथ का सब्जेक्ट लेना चाहिए।

इसके अलावा अगर आपको मेडिकल फील्ड या फिर इंजीनियरिंग की फील्ड में जाना है, तो आप फिजिक्स, केमेस्ट्री,मैथ और बायोलॉजी के सब्जेक्ट ले सकते हैं।

10th के बाद कॉमर्स

दसवीं कक्षा को पास करने के बाद अधिकतर विद्यार्थी कॉमर्स का सब्जेक्ट लेते हैं। जिन विद्यार्थियों को आगे चलकर अकाउंटेंट, फाइनेंस या फिर बिजनेस के क्षेत्र में जाना होता है वह कॉमर्स का सब्जेक्ट दसवीं कक्षा को पास करने के बाद लेते हैं।

जिन्हें अकाउंटिंग या फिर फाइनेंस में इंटरेस्ट होता है ऐसे विद्यार्थियों के लिए कॉमर्स की फील्ड सबसे ज्यादा अच्छी मानी जाती है अगर आप चार्टर्ड अकाउंटेंट बनना चाहते हैं।

कॉमर्स की पढ़ाई करने के बाद 12वीं कक्षा को पास करने के बाद आप बैचलर ऑफ कॉमर्स,मास्टर ऑफ कॉमर्स, बैचलर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन, मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन जैसे प्रोफेशनल कोर्स के साथ ग्रेजुएशन कंप्लीट कर सकते हैं।

बैंकिंग की एग्जाम को देने के लिए कॉमर्स सब्जेक्ट सबसे ज्यादा अच्छा ऑप्शन माना जाता है।

10th के बाद आर्ट्स

ऐसे विद्यार्थी जो गवर्नमेंट जॉब पाने की इच्छा रखते हैं, वह आर्ट सब्जेक्ट्स से अपनी ग्रेजुएशन कंप्लीट करने के बाद गवर्नमेंट जॉब के लिए अप्लाई कर सकते हैं या फिर गवर्नमेंट जॉब की तैयारी कर सकते हैं।

सामान्य तौर पर आर्ट्स विषय में हिस्ट्री, इंग्लिश और भूगोल जैसे सब्जेक्ट होते हैं।

12वीं कक्षा को आर्ट्स के विषय के साथ पास करने के बाद आप होटल मैनेजमेंट एंड इवेंट मैनेजमेंट, फैशन डिजाइनिंग, मास कम्युनिकेशन एंड जर्नलिज्म, बैचलर ऑफ Arts जैसे कोर्स कर सकते हैं।

और इसके बाद चाहे तो नौकरी कर सकते हैं या फिर गवर्नमेंट अथवा प्राइवेट जॉब की तैयारी कर सकते हैं।

10th के बाद पॉलीटेक्निक

ऐसे विद्यार्थी जो इंजीनियरिंग का कोर्स करने की इच्छा रखते हैं उनके लिए पॉलिटेक्निक डिप्लोमा कोर्स बेस्ट कोर्स साबित होगा, जिसे दसवीं के बाद किया जा सकता है।

अगर आप इंजीनियरिंग का कोर्स करना चाहते हैं तो आप दसवीं कक्षा को पास करने के बाद पॉलिटेक्निक के 3 साल के डिप्लोमा कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं।

पॉलिटेक्निक में करने के लिए विभिन्न प्रकार के Course मौजूद होते हैं। जैसे कि मेकेनिकल इंजीनियरिंग, कंप्यूटर इलेक्ट्रॉनिक इत्यादि।

पॉलिटेक्निक का कोर्स करने के बाद आप इंजीनियरिंग के कोर्स में सीधा दूसरे वर्ष (2nd year) में एडमिशन प्राप्त कर सकते हैं। इसीलिए अगर आपको पॉलिटेक्निक के कोर्स को करने में इंटरेस्ट है, तो आप दसवीं के बाद इसमें एडमिशन के लिए कोशिश कर सकते हैं।

10th के बाद ITI

अगर आप पढ़ाई-लिखाई करके कम समय में जल्दी जॉब पाना चाहते हैं तो आप दसवीं कक्षा को पास करने के बाद आईटीआई के कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं।

आईटीआई के कोर्स में अलग अलग टाइप के Courses और Trade होते हैं, यह कोर्स काफी छोटे होते हैं।

आईटीआई के कोर्स अधिकतम 2 साल, 3 साल या फिर 1 साल के होते हैं।आपको जिस किसी भी सब्जेक्ट में इंटरेस्ट हो, आप वह ट्रेडसिलेक्ट करके आईटीआई का कोर्स कर सकते हैं।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आईटीआई का कोर्स करने के बाद आपको गवर्नमेंट जॉब मिलने की संभावना काफी ज्यादा बढ़ जाती है, क्योंकि अक्सर गवर्नमेंट जॉब में आईटीआई पास आउट विद्यार्थियों को महत्वता दी जाती है।

क्या दसवीं के बाद आईटीआई किया जा सकता है?

जी हां आप दसवीं के बाद आईटीआई का कोर्स कर सकते हैं।

क्या दसवीं के बाद पॉलिटेक्निक डिप्लोमा का कोर्स किया जा सकता है?

जी बिल्कुल।

दसवीं के बाद पॉलिटेक्निक डिप्लोमा का कोर्स कितने साल का होता है?

3 साल का।

दसवीं के बाद आईटीआई का कोर्स कितने साल का होता है?

1 साल, 2 साल, 3 साल

क्या दसवीं के बाद आईटीआई का कोर्स करने पर गवर्नमेंट जॉब मिल सकती है?

जी हां।

क्या दसवीं के बाद नौकरी की जा सकती है?

बिल्कुल आप नौकरी कर सकते है।

निष्कर्ष

तो साथियों हमें पूर्ण आशा है 10वीं के बाद क्या करें? अब आपको अपने कैरियर में सही सब्जेक्ट का चुनाव करने में आसानी होगी। अगर आप इस लेख में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो इसे साझा करना ना भूलें।

Leave a Comment