BA के बाद क्या करे कोर्स?

बैचलर ऑफ आर्ट्स या बी.ए एक सामान्य डिग्री है जो सर्वांगीण कौशल विकसित करने पर केंद्रित है। यह अन्य डिग्री की तरह विशिष्ट चीजों पर ध्यान केंद्रित नहीं करता है।

यहाँ हम BA Ke Baad Kya Kare जानेंगे। किसी भी व्यक्ति की जिंदगी में शिक्षा बेहद मायने रखती है, और जीवन में सफल इंसान बनने के लिए सही करियर का चयन करना बेहद जरूरी है। सामान्यतः आर्ट्स स्ट्रीम से 12वीं कक्षा पास करते ही छात्र आगे की पढ़ाई के लिए कॉलेज में B.A करते हैं।

लेकिन जानकारी के अभाव में ग्रेजुएशन पूरी करने के बाद स्टूडेंट्स अपने कैरियर में आगे सही सब्जेक्ट और फील्ड का चयन करने में परेशानी का सामना करते हैं। उनकी इसी समस्या का समाधान आपको इस लेख में मिलेगा आइए जानते है के बीए के बाद क्या करना चाहिए

BA क्या होता है?

बैचलर ऑफ आर्ट्स भारत में चार साल की स्नातक डिग्री है जो स्नातक पूरा करने के बाद प्रदान की जाती है।

बैचलर ऑफ आर्ट्स (बीए) (ऑनर्स) डिग्री कई देशों में कॉलेजों और विश्वविद्यालयों द्वारा प्रदान की जाने वाली एक स्नातक शैक्षणिक डिग्री है। डिग्री के लिए आम तौर पर तीन से पांच साल के अध्ययन की आवश्यकता होती है, या 4 से 8 सेमेस्टर)।

BA ke baad kya kare

बीए ऑनर्स डिग्री या तो एक प्रमुख-आधारित पाठ्यक्रम हो सकता है जो कला, मानविकी और सामाजिक विज्ञान विषयों (कला और मानविकी) में व्यापक प्रशिक्षण प्रदान करता है, या एक विषय-आधारित पाठ्यक्रम के रूप में जो कला और मानविकी के भीतर दो संबंधित क्षेत्रों के अध्ययन को जोड़ता है। , जैसे अंग्रेजी साहित्य और इतिहास (सामाजिक विज्ञान)।

बीए ऑनर्स डिग्री को आमतौर पर तीन समूहों में वर्गीकृत किया जाता है: कला, विज्ञान और सामाजिक विज्ञान।

बैचलर ऑफ आर्ट्स के बाद क्या करना चाहिए?

B.A का कोर्स करने के बाद एक छात्र के लिए कैरियर में विभिन्न रास्ते खुले होते हैं। वह चाहे तो अपने पसंदीदा क्षेत्र में नौकरी कर सकता है या फिर बिजनेस भी स्टार्ट कर सकता है।

चलिए एक-एक कर जानते हैं बीए के बाद वह कौन कौन से Courses और कैरियर विकल्प आपके सामने होते हैं। छात्रों की रुचि अनुसार वे नीचे दिए गए इनमें से किसी भी कैरियर ऑप्शन का चुनाव कर BA के बाद सही कैरियर चुन सकते हैं।

#1. बैचलर ऑफ़ एजुकेशन (B.Ed)

ऐसे स्टूडेंट जो गवर्नमेंट टीचर बनना चाहते है या फिर जिनका मन पढ़ाने में होता है, वह बैचलर ऑफ आर्ट का कोर्स करने के बाद BED यानी कि बैचलर ऑफ एजुकेशन के कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं और इस कोर्स को पूरा करके गवर्नमेंट या फिर प्राइवेट स्कूल में टीचर की नौकरी के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

B.Ed. का कोर्स करने के लिए विद्यार्थियों के बाद और BA की डिग्री होनी चाहिए। बी ए का कोर्स करने के बाद बैचलर ऑफ एजुकेशन का कोर्स टोटल 2 साल का कोर्स होता है।

B.Ed. का कोर्स करने के बाद आपको शिक्षा के क्षेत्र में आसानी से नौकरी प्राप्त हो जाती है। यदि आप बीएड क्या हे और बीएड के बाद क्या करे तो इस लेख को जरूर पढ़े और सही कोर्स का चुनाब करें ।

#2. मास्टर ऑफ़ आर्ट्स (M.A)

B.A. करने के बाद विद्यार्थियों के बीच में M.A. का कोर्स बहुत ही पॉपुलर Course माना जाता है, इसलिए अधिकतर विद्यार्थी बी ए का कोर्स करने के बाद M.A. के कोर्स में ही एडमिशन लेते हैं।

मास्टर ऑफ आर्ट्स का कोर्स पोस्ट ग्रैजुएट लेवल डिग्री का कोर्स होता है, यह कोर्स BA के बाद किया जा सकता है। इस कोर्स की सबसे खास बात यह है कि इंडिया की लगभग तमाम यूनिवर्सिटी में मास्टर ऑफ आर्ट्स का कोर्स उपलब्ध होता है और इसमें विद्यार्थियों को आसानी से एडमिशन भी प्राप्त हो जाता है। अगर आप एम्.ए के बाद क्या करें सोच रहे है तो इसे जरुर पढ़ें।

#3. मास्टर ऑफ़ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (MBA)

अगर आपने अपनी बीए की डिग्री कंप्लीट कर ली है और आप यह जानना चाहते हैं कि बीए के बाद क्या करें,तो इस सवाल के जवाब में आप बी ए का कोर्स पूरा करने के बाद एमबीए यानी कि मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन के कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं।

अगर आपको बिजनेस करने में इंटरेस्ट है या फिर आप बिजनेस की पढ़ाई में रुचि रखते हैं, तो यह कोर्स आपके लिए बी ए का कोर्स करने के बाद बेस्ट कोर्स साबित हो सकता है।

MBA के इस कोर्स में विद्यार्थियों को बिजनेस से रिलेटेड प्रॉब्लम को हल करना और बिजनेस किस प्रकार किया जाता है,इसके बारे में सिखाया तथा बताया जाता है।

मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन का कोर्स टोटल 2 साल का कोर्स होता है और जब आप इस कोर्स को पूरा कर लेते हैं तो उसके बाद आप किसी भी पब्लिक सेक्टर में या फिर प्राइवेट सेक्टर में नौकरी के लिए आवेदन कर सकते हैं,जिसमें आपको अच्छी सैलरी मिल सकती है।

#4. मास्टर ऑफ़ एजुकेशन (M.Ed)

बैचलर ऑफ आर्ट्स का कोर्स करने के बाद आप B.Ed. की हायर डिग्री यानी कि M.Ed. यानी कि मास्टर ऑफ एजुकेशन के कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं।

मास्टर ऑफ एजुकेशन का कोर्स एक पोस्ट ग्रेजुएशन डिग्री कोर्स होता है और इस कोर्स को करने के लिए आपको 2 साल का समय देना होता है, जिसमें आपको 4 सेमेस्टर की पढ़ाई करनी पड़ती है।

मास्टर ऑफ एजुकेशन का कोर्स करने के बाद भी आप चाहे तो टीचिंग लाइन में जा सकते हैं या फिर तुरंत नौकरी के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

#5. बैचलर ऑफ़ लॉस (LLB)

एलएलबी का पूरा नाम होता है बैचलर ऑफ लॉ होता है। यह कानून से संबंधित डिग्री होती है,जिसे आप बैचलर ऑफ आर्ट का कोर्स करने के बाद कर सकते हैं।

अगर आपको जज बनना है या फिर आप वकालत की Field में जाना चाहते हैं तो बी ए का कोर्स करने के बाद एलएलबी का कोर्स करना आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है, क्योंकि वकील बनने के लिए इस कोर्स को करना आवश्यक होता है।

इस कोर्स को पूरा करने के बाद आप वकील बन कर अपना कैरियर चालू कर सकते हैं और अपने अच्छे काम के दम पर आप आगे चलकर जज की पोस्ट भी प्राप्त कर सकते हैं।

#6. मास्टर ऑफ साइंस (M.Sc)

मास्टर ऑफ साइंस का कोर्स भी आप बैचलर ऑफ आर्ट का कोर्स पूरा करने के बाद कर सकते हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि मास्टर ऑफ साइंस का कोर्स ग्रेजुएशन कोर्स होता है और इसे आप बैचलर ऑफ आर्ट्स का कोर्स करने के बाद एडमिशन प्राप्त करके कर सकते हैं।

यह Course 2 साल का ग्रेजुएशन प्रोग्राम कोर्स होता है और मास्टर ऑफ साइंस के कोर्स में इन 2 सालों में स्टूडेंट को रिसर्च के बारे में सिखाया तथा बताया जाता है।

#7. गवर्नमेंट जॉब

BA का कोर्स करने के बाद आपके सामने अलग-अलग प्रकार की गवर्नमेंट जॉब में अप्लाई करने के विकल्प भी खुल जाते हैं, क्योंकि अधिकतर गवर्नमेंट जॉब में ग्रैजुएट लोगों की डिमांड होती है।

ऐसे में अगर आपने बैचलर ऑफ आर्ट का कोर्स कर लिया है और आप आगे पढ़ाई नहीं करना चाहते हैं तो आप गवर्नमेंट जॉब के लिए अप्लाई कर सकते हैं, जो इस प्रकार है।

  • इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस
  • इंडियन पुलिस सर्विस
  • इंडियन फॉरेन सर्विस
  • बैंक क्लर्क
  • गेल (GAIL)
  • भेल (BHEL)
  • एनटीपीसी
  • इंडियन ऑयल
  • ओएनजीसी

#8. नौकरी के लिए अप्लाई करें

बैचलर ऑफ आर्ट्स का कोर्स करने के बाद आप अलग-अलग प्रकार की नौकरी के लिए भी एलिजिबल हो जाते हैं।

अगर आपने बैचलर ऑफ आर्ट का कोर्स कर लिया है, तो आप उसके तुरंत बाद ही विभिन्न प्रकार की नौकरी के लिए आवेदन कर सकते हैं और अगर आपका सिलेक्शन हो जाता है,तो आप तुरंत नौकरी कर सकते हैं।

BA करने के बाद कौन सी जॉब मिलेगी?

आप Ba Ke Baad Government Job Apply कर सकते है और आप बीए करने के बाद ऑफिस मैनेजमेंट (Office Management), कंप्यूटर ऑपरेटर (Computer Operator), स्टेनोग्राफर (Stenographer) आदि में नौकरी पा सकते हैं और आप केवल पुलिस कांस्टेबल, रेलवे, रिक्तियों बल्कि OPSC, SSC, UPSC, Banking में भी नौकरी के लिए आवेदन कर सकते हैं।

B.A पास करने के बाद आप किसी भी कंपनी में अच्छे पद के लिए भी अप्लाई कर सकते हैं।

BA के बाद आईएएस कैसे बने?

BA Ke Baad IAS Kaise Bane: बीए के बाद आईएएस बनना संभव है। हालाँकि, यह आवश्यक है कि आपके पास लेखांकन और वित्त में एक मजबूत पृष्ठभूमि हो। यदि आप आईएएस बनने के इच्छुक हैं तो आप सीए डिग्री या सीएफए योग्यता का विकल्प भी चुन सकते हैं।

यह इच्छुक अंतर्राष्ट्रीय मामलों (आईएएस) के उम्मीदवारों के लिए उनके वांछित करियर की दिशा में सही कदम उठाने में मदद करने के लिए एक गाइड है।

अपनी यात्रा शुरू करने से पहले आईएएस की मूल बातें और उसकी आवश्यकताओं को समझना आवश्यक है। पहला कदम यह तय करना है कि आप आईएएस से क्या चाहते हैं और इसके लिए आप क्या त्याग करने को तैयार हैं। इससे आपको अध्ययन के पाठ्यक्रम और स्नातक डिग्री के लिए आवेदन करने का स्थान तय करने में मदद मिलेगी।

आईएएस एक्चुअरीज संस्थान द्वारा दिया गया एक पद है। वे पेशेवर हैं जो वित्त, गणित और सांख्यिकी के क्षेत्र में काम करते हैं। IAS पदनाम को दुनिया भर में मान्यता प्राप्त है। एक्चुअरी बनने के लिए, आपको तीन साल का कार्यक्रम पूरा करना होगा जिसमें संभाव्यता सिद्धांत और वित्तीय गणित जैसे विषय शामिल हों।

एक्चुअरी बनने का पहला कदम इन तीन क्षेत्रों में से किसी एक में स्नातक की डिग्री प्राप्त करना है: बीमांकिक विज्ञान, गणित, या सांख्यिकी। आप दुनिया भर के कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में कार्यक्रम पा सकते हैं।

B.A. का फुल फॉर्म क्या है?

B.A. का फुल फॉर्म Bachelor of Arts होता है।

B.A. को हिंदी में क्या कहते हैं?

बीए को हिंदी में कला में स्नातक कहा जाता है।

बी ए का कोर्स कब किया जा सकता है?

12वीं कक्षा को पास करने के बाद।

बी ए का कोर्स कितने साल का होता है?

3 साल।

BA के बाद LLB कितने साल की है?

BA के बाद LLB 5 साल की है।

अन्तिम शब्द

तो साथियों हमें आशा है BA के बाद क्या करें आप समझ गए होंगे। यह लेख पढ़कर यह आपको अपने लिए एक उपयुक्त कैरियरसिलेक्ट करने में आपकी मदद करेगा। अगर आप इस लेख में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो इसे शेयर करना न भूलें। अगर आप कुछ सवाल पूछना चाहते हैं तो हम आपके सभी सवालों के जवाब देने की कोशिश करेंगे।