बी.एड के बाद क्या करें?

भारत में, उच्च शिक्षा के लिए चयन करने वालों की संख्या अब दस लाख से अधिक है। ऐसे में ड के बाद क्या करना चाहिए को ले कर बहुत सी उलझन होती है।

अक्सर B.Ed करने के बाद कई लोगों को लगता है, अब जीवन में महज टीचिंग ही कैरियर विकल्प है लेकिन यदि आप आप B.Ed का कोर्स कर चुके हैं, या करने का मन बना रहे हैं तो आज हम आपको टीचिंग के अलावा भी BEd के बाद क्या करें? कुछ बेहतरीन करियर ऑप्शन बताने जा रहे है।

वर्तमान में अधिकतर लोग टीचिंग लाइन में जाने की इच्छा रखते हैं, क्योंकि अब टीचिंग लाइन में पहले की तरह कम तनख्वाह नहीं है, बल्कि अब एक टीचर को अच्छी तनख्वाह मिलती है, ऊपर से अगर कोई व्यक्ति गवर्नमेंट टीचर बनने में कामयाब हो जाता है तो उसे अच्छे वेतन के साथ ही जॉब सिक्योरिटी मिलती है। अगर आप 12वीं के बाद क्या करे सोच रहे है तो इसे जरुर पढ़ें।

B.Ed क्या है?

इंडिया में शिक्षक बनने के लिए विद्यार्थियों को एक विशेष डिग्री को हासिल करना होता है जिसे B.Ed (Bachelor of education) की डिग्री कहा जाता है।जो व्यक्ति इंडिया में गवर्नमेंट स्कूल में टीचर की पोस्ट प्राप्त करना चाहता है,उसे इस पोस्ट को प्राप्त करने के लिए B.Ed की डिग्री को कंप्लीट करना आवश्यक होता है।

B.Ed ke Baad Kya Kare

B.Ed का कोर्स टोटल 2 साल का कोर्स होता है और इस कोर्स को करने के बाद आप प्राइवेट स्कूल में या फिर गवर्नमेंट स्कूल में टीचर की पोस्ट के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

बीएड के बाद क्या करना चाहिए?

अन्य कोर्स की तरह ही B.Ed करने के बाद आपके सामने कैरियर के लिए कई ऑप्शन आ जाते हैं। आप चाहें तो B.Ed करने के बाद नौकरी कर सकते हैं या फिर अन्य कोर्स को करके उच्च शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं और अपने कौशल को डेवलप कर सकते हैं। यहाँ से आप एम्.ए के बाद क्या करे पढ़ सकते है।

नीचे हम आपको कुछ ऐसे कोर्स बता रहे हैं जिन्हें आप BEd करने के बाद कर सकते हैं।

प्राइवेट स्कूल में नौकरी के लिए अप्लाई करें

अगर आपने बी.एड के कोर्स तो कंप्लीट कर लिया है तो आप बी.एड के कोर्स को पूरा करने के बाद तुरंत ही प्राइवेट कॉलेज में या फिर प्राइवेट स्कूल में टीचर की पोस्ट के लिए अप्लाई कर सकते हैं। जैसा कि आप जानते हैं कि B.Ed के कोर्स में आपको टीचर कैसे बना जाता है, इससे संबंधित पढ़ाई ही करवाई जाती है।इस प्रकार B.Ed के कोर्स को कंप्लीट करने के बाद आप टीचर की नौकरी प्राप्त करने के लिए स्कूल और कॉलेज में अप्लाई कर सकते हैं।

गवर्नमेंट जॉब की तैयारी करें

कुछ गवर्नमेंट जॉब दसवीं कक्षा को पाने के बाद मिलती है तो कुछ गवर्नमेंट जॉब 12वीं कक्षा या फिर ग्रेजुएशन कंप्लीट करने के बाद मिलती है। जब आप B.Ed का कोर्स पूरा कर लेते हैं तब आप ग्रेजुएट हो जाते हैं, जिसके बाद आपके सामने विभिन्न प्रकार की गवर्नमेंट जॉब की तैयारी करने और उसमें अप्लाई करने के ऑप्शन मौजूद होते हैं। B.Ed करने के बाद आप लगभग तमाम गवर्नमेंट जॉब के लिए आवदेन कर सकते हैं।

टीजीटी (TGT) की तैयारी करें

B.Ed का कोर्स कंप्लीट करने के बाद आप चाहे तो टीजीटी (Trained Graduate Teacher) की भी तैयारी कर सकते हैं।माध्यमिक शिक्षा सिलेक्शन आयोग के द्वारा आप टीजीटी के एग्जाम में शामिल हो सकते हैं और टीजीटी के एग्जाम को पास करके टीजीटी टीचर बन सकते हैं।

टीजीटी को हिंदी में प्रशिक्षित स्नातक शिक्षक कहा जाता है। जो कोई भी अभ्यर्थी टीजीटी की एग्जाम को पास कर लेता है वह गवर्नमेंट स्कूल में गवर्नमेंट टीचर बनने के लिए निकलने वाली वैकेंसी के लिए अप्लाई कर सकता है और सिलेक्शन होने पर गवर्नमेंट स्कूल में गवर्नमेंट टीचर बन सकता है।

टीजीटी की एग्जाम वही व्यक्ति दे सकता है, जिसने ग्रेजुएशन के साथ B.Ed की परीक्षा को पास किया हो। अलग-अलग स्टेट गवर्नमेंट अपने राज्य में गवर्नमेंट स्कूल के लिए समय-समय पर टीजीटी पासआउट लोगों के लिए गवर्नमेंट टीचर के पोस्ट की वैकेंसी निकलती रहती है। इसके अलावा इंडियन सेंट्रल गवर्नमेंट केंद्रीय स्कूल के लिए भी टीजीटी पास आउट टीचरों की भर्ती निकालती है।

एलटी (LT) टीचर की प्रिपरेशन करें

राजकीय स्कूल में एलटी टीचर ( Licentiates Teacher) की पोस्ट पर काम करने के लिए आप B.Ed के कोर्स को कंप्लीट करने के बाद अपनी तैयारी कर सकते हैं। इसके लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम को पास करना पड़ेगा।

एंट्रेंस एग्जाम को पास करने के बाद अच्छे अंक आने पर आपका चयन राजकीय स्कूल में एलटी टीचर की पोस्ट पर हो सकता है।

प्राथमिक विद्यालय में पढ़ाएं

B.Ed के कोर्स को कंप्लीट करने के बाद आप विभिन्न एंट्रेंस एग्जाम को दे सकते हैं और अगर आपके एंट्रेंस एग्जाम में अच्छे अंक आते है तो आपका सिलेक्शन प्राथमिक विद्यालय में टीचर की पोस्ट पर हो सकता है।

प्राथमिक विद्यालय में टीचर की पोस्ट प्राप्त करने के लिए आपको एजुकेशन की बेसिक इनफार्मेशन अवश्य होनी चाहिए, क्योंकि प्राथमिक विद्यालय में आपको छोटे बच्चों को पढ़ाना पड़ता है। ऐसे में बेसिक इनफार्मेशन का होना आवश्यक है।

प्राथमिक विद्यालय में शिक्षकों की भर्ती करने के लिए स्टेट गवर्नमेंट के द्वारा अलग-अलग प्रकार की एग्जाम का आयोजन करवाया जाता है। इस प्रकार अगर आप B.Ed के कोर्स को करने के बाद प्राथमिक विद्यालय में शिक्षक बनना चाहते हैं, तो आपको सरकार के द्वारा आयोजित करवाई जाने वाली एग्जाम को पास करना पड़ेगा।

इस एग्जाम को पास करने के बाद आप प्राथमिक विद्यालय में टीचर बन सकते हैं।

ट्यूशन पढ़ाए

अगर आपने B.ED का कोर्स कंप्लीट कर लिया है तो आप इस कोर्स को कंप्लीट करने के तुरंत बाद विद्यार्थियों को ट्यूशन पढ़ाने का काम स्टार्ट कर सकते हैं और अपनी कमाई भी कर सकते हैं। आप विद्यार्थियों को ट्यूशन पढ़ाने का काम अपने घर से भी कर सकते हैं या फिर आप चाहे तो कोचिंग इंस्टिट्यूट खोल सकते हैं और विद्यार्थियों को अलग-अलग सब्जेक्ट की पढ़ाई करवा सकते हैं।

B.Ed स्पेशल एजुकेशन कोर्स

ऐसे विद्यार्थियों के लिए B.Ed स्पेशल एजुकेशन कोर्स एक स्पेशल कोर्स माना जाता है, जो काउंसलर या फिर Tutor बनने की इच्छा रखते हैं।

जो स्टूडेंट मानसिक या फिर शारीरिक रूप से दिव्यांग हैं वैसे स्टूडेंट को व्यक्ति इस कोर्स को करने के बाद पढ़ा सकते हैं, क्योंकि इस कोर्स में व्यक्ति को मानसिक और शारीरिक रूप से दिव्यांग स्टूडेंट को गाइड करने की ट्रेनिंग प्रदान की जाती है।

इस कोर्स को करने के बाद व्यक्ति को कंटेंट राइटर, काउंसलर, प्राइमरी टीचर, एजुकेशनल इंस्टीट्यूट, न्यूज एंड मीडिया तथा एनजीओ जैसी फील्ड में नौकरी प्राप्त होती है।

B.Ed का कोर्स कितने सालों का होता है?

3 साल

B.Ed का कोर्स कब कर सकते हैं?

12वीं कक्षा को पास करने के बाद

क्या B.Ed के कोर्स को करने के लिए 12वीं कक्षा में किसी स्पेशल सब्जेक्ट को लेना जरूरी है?

नहीं, आप साइंस,कॉमर्स या आर्ट विषय से 12वीं कक्षा को पास करने के बाद B.Ed का कोर्स कर सकते हैं।

B.Ed का कोर्स कैसे लोग अधिक करते हैं?

जो लोग टीचर बनना चाहते हैं

क्या B.Ed के कोर्स को करने के बाद गवर्नमेंट जॉब मिल सकती है?

जी हां, बिल्कुल।

क्या टीचर बनने के लिए B.Ed का कोर्स करना जरूरी है?

हां

अन्तिम शब्द

तो साथियों हमें आशा है बीएड के बाद क्या करे आप समझ गए होंगे। यह लेख पढ़कर यह आपको अपने लिए एक उपयुक्त कैरियर सिलेक्ट करने में आपकी मदद करेगा। अगर आप इस लेख में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो इसे शेयर करना न भूलें।

Leave a Comment