चार्टर्ड एकाउंटेंट CA कैसे बने?

अगर आप अभी स्कूल में पढ़ाई कर रहहो, और आपका इछा है की आप एक CA बने। आपको जानना है की CA कैसे बने तो इस लेख को अंत तक ज़रूर पढ़ें।

इस लेख हम जानेंगे की CA कैसे बने? हर विद्यार्थी यही चाहता है कि वह अपनी जिंदगी में अच्छी पढ़ाई करें और अच्छी स्टडी करके अपनी जिंदगी में एक अच्छी नौकरी प्राप्त करें। और जब बात होती हैं नौकरी की तो लोग अकसर एक सम्मानित पद की नौकरी में अपना करियर बनाने की सोचते है।

इन्हीं पदों में से एक है CA, जिसे पास करने के बाद व्यक्ति के पास कई विकल्प होते हैं, जिसमें से वह अपनी पसंद की नौकरी के लिए पहले से ही तैयारी करना स्टार्ट कर सकता है। तो यहाँ हम जानेंगे की ग्रेजुएशन के बाद सीए कैसे बने

CA क्या होता है?

बहुत से स्टूडेंट का सपना होता है कि वह आगे चलकर CA कैसे बनेया फिर CA Kaise Bane in Hindi में जन सके, लेकिन कुछ बनने के लिए उस विषय मे ज्ञान प्राप्त करना होता है। अगर आपने 12वीं कक्षा को पास कर लिया है, तो 12वीं कक्षा को पास करने के बाद आप सीए बनने के लिए CPT एग्जाम दे सकते हैं, जिसे अब फाउंडेशन कोर्स कहा जाता है।

CA Kaise Bane

सीए फाउंडेशन कोर्स करने के लिए जब आप पहली बार अपना रजिस्ट्रेशन करवाते हैं, तो उसकी वैलिडिटी 3 साल तक होती है। अगर आप 3 साल तक सीए फाउंडेशन कोर्स पास नहीं कर पाते हैं, तो आपको फिर से अपना रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ता है।

सीए बनने की योग्यता

सीए यानी की चार्टर्ड अकाउंटेंट ( Chartered Accountant) बनने के लिए आपको इंडिया के किसी भी स्कूल से 12वीं कक्षा को पास करना जरूरी है और आपके 12वी कक्षा में कम से कम 55 प्रतिशत से ज्यादा अंक भी होने चाहिए।

इसके अलावा अगर आपने ग्रेजुएशन किया है तो भी आप चार्टर्ड अकाउंटेंट बनने का प्रयास कर सकते हैं।

CA की फीस

सीए की फीस प्राइवेट एवम गवर्नमेंट कॉलेज में भिन्न भिन्न होती है। इसीलिए अधिकतर विद्यार्थी सीए के लिए आयोजित होने वाली एंट्रेंस एग्जाम में अच्छे अंक हासिल करने का प्रयास करते हैं, क्योंकि अच्छे अंक लाने पर उन्हें गवर्नमेंट कॉलेज में एडमिशन मिल जाता है, वही जिनके कम अंक आते हैं, उन्हें प्राइवेट कॉलेज में एडमिशन लेना पड़ता है। तो हमारे मन में ये सवाल आता है की CA की फीस कितनी होती है?

प्राइवेट कॉलेज में सीए की सालाना फीस तकरीबन डेढ़ लाख रुपए से लेकर ₹3, 00, 000 के आसपास तक हो सकती है, वही गवर्नमेंट कॉलेज में इसकी सालाना फीस ₹70000 से लेकर ₹130000 के आसपास तक हो सकती है।

CA की तैय्यारी कैसे करे?

आप ग्रेजुएशन कम्पलीट होने के बाद CA की तैयारी कर सकते है। यदि आपने B.Com, MCom से ग्रेजुएशन पूरी की है, तो आपको CA की तैयारी करने मे आसानी होंगी, क्योंकि बैचलर ऑफ कॉमर्स के कोर्स में जो चीजें पढ़ाई जाती हैं, उनमें से कई चीजें आपको चार्टर्ड अकाउंटेंट के कोर्स में भी पढ़ाई जाती है। यहाँ आपको CA कैसे बने Hindi में के बारेमे बताया गया है।

#1. CA फाउंडेशन के लिए एग्जाम

सीए फाउंडेशन के लिए जो एग्जाम आयोजित होती है, उसमें टोटल 4 क्वेश्चन पेपर कराए जाते हैं, जिन्हें हल करने के लिए परीक्षा कमेटी की तरफ से विद्यार्थियों को 3 घंटे का टाइम दिया जाता है।

यह सभी क्वेश्चन पेपर 100 नंबर के होते हैं।इस एग्जाम को पास करने के लिए अभ्यर्थी को कम से कम 40% अंक और सभी पेपर के अंक को मिलाकर तकरीबन 50% अंक लाने आवश्यक होते हैं।

फाउंडेशन कोर्स का सिलेबस

फाउंडेशन कोर्स में निम्न विषयों से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं।

  • Mercantile Law
  • Fundamentals of Accounting
  • General Economics
  • Quantitative Aptitude

इसमें प्रथम और दूसरे चरण का एग्जाम objective टाइप का होते है, जो 100 -100 अंको के होते है और 3 घंटे का समय एग्जाम को Solve करने के लिए दिया जाता है। जबकि तीसरे और चौथे चरण का एग्जाम 100-100 अंक का होता है।

इनमें माईनस marking होती है। चार उत्तर सही होने पर एक गलत हुआ तो एक प्रश्न का नंबर कट जाता है। बता दें इसमें हर एक एग्जाम मे 40% अंक लाना अनिवार्य होता है।

#2. Integrated Professional Competence Course (IPCC)/IPCE)

वह छात्र जो फाउंडेशन कोर्स यानी कि सीपीटी की एग्जाम क्लियर कर लेते है उनको दूसरे चरण यानी कि Integrated Professional Competence Course में शामिल होने का मौका मिलता है। इस एग्जाम का आयोजन हर साल में दो बार होता है, जिसमें पहली एग्जाम मई के महीने में और दूसरी एग्जाम नवंबर के महीने में आयोजित होती है। मई के महीने में होने वाली एग्जाम के लिए मार्च के महीने में और नवंबर के महीने में होने वाली एग्जाम के लिए सितंबर में ही आपको अपना रजिस्ट्रेशन करवा लेना चाहिए।

IPCC एग्जाम का पैटर्न

आईपीसीसी की एग्जाम दो ग्रुप में आयोजित होती है, जिसमें पहले ग्रुप में टोटल 4 सब्जेक्ट होते हैं और दूसरे ग्रुप में कुल तीन सब्जेक्ट होते हैं। आईपीसीसी की एग्जाम को पास करने के लिए अभ्यर्थी को दोनों ग्रुप के हर एक पेपर में कम से कम 50 परसेंट अंक लाना जरूरी है,तभी वह इस एग्जाम को पास कर सकेंगे।

• ग्रुप 1

  • Business Law Communication
  • Ethics and Communication
  • Cost Accounting and Financial Management
  • Taxation
  • Accounting

• ग्रुप 2

  • Advanced Accounting
  • Auditing and Assurance
  • Information Technology and Strategic Management

CA IPCC एग्जाम क्लियर करने के लिए 2 gruop के हर एक पेपर मे 50% अंक लाना अनिवार्य होगा तभी आप ipcc एग्जाम मे पास हो पायेंगे।

#3. Articleship

आईपीसीसी की एग्जाम को पास करने के बाद आपको आर्टिकलशिप के लिए अपना रजिस्ट्रेशन करवाना होता है,जिसके बाद आपको 3 साल की ट्रेनिंग लेनी होती है। आर्टिकलसिप ट्रेनिंग पूरी होने के तकरीबन 6 महीने पहले ही आपको सीए की एग्जाम को पास करना पड़ता है।

#4. CA Exam Final

सीए की फाइनल एग्जाम में टोटल दो ग्रुप होते हैं जिसमें पहले ग्रुप में 4 क्वेश्चन पेपर होते हैं और दूसरे ग्रुप में 4 क्वेश्चन पेपर होते हैं। इस प्रकार टोटल 8 क्वेश्चन पेपर हो जाते हैं।

• ग्रुप 1

  1. Strategic Financial Management
  2. Advanced Auditing And Professional Reporting
  3. Financial Reporting
  4. Corporate And Allied Laws

• ग्रुप 2

  1. Information Systems Control Audit
  2. Advanced Management Accounting
  3. Indirect Tax Laws
  4. Direct Tax Laws

सीए की अंतिम परीक्षा के सभी प्रश्न पत्रों में आपके कम से कम 50% अंक आने चाहिए तभी आप इस एग्जाम को पास कर सकेंगे और आप को सीए की डिग्री प्रदान की जाएगी।

सीए बनने के बाद नौकरी और वेतन

अगर आपने सीए की डिग्री हासिल कर ली है, तो इसके बाद आप किसी भी फाइनेंसियल कंपनी में सीए की नौकरी के लिए अप्लाई कर सकते हैं।इसके लिए आपको यह देखना है कि किस कंपनी में सीए की वैकेंसी निकल रही है,उसके बाद आपको उस कंपनी में जा करके अपना इंटरव्यू देना है। अगर आपका सिलेक्शन इंटरव्यू में हो जाता है, तो आपको चार्टर्ड अकाउंटेंट की पोस्ट मिल जाएगी।

हर कंपनी में सीए की सैलरी अलग-अलग होती है।अगर आप विदेश में सीए की नौकरी कर रहे हैं तो आपकी महीने की तनख्वाह कम से कम ₹3,00000 से लेकर ₹5,00000 के आसपास तक हो सकती है, वही इंडिया में अगर आप किसी कंपनी में नौकरी कर रहे हैं, तो आपकी तनख्वाह ₹1,00000 से लेकर ₹1,50,000 के आसपास तक हो सकती है। इसलिए CA की सैलरी इस बात पर भी डिपेंड होती है कि व्यक्ति कितनी बड़ी या फिर छोटी कंपनी में काम कर रहा है।

CA की फीस कितनी होती है?

कुल शुल्क ₹9600 से ₹9800 तक है। यह शुल्क सीए के गठन के दौरान परीक्षा शुल्क, कोचिंग शुल्क, किताबें आदि के साथ संस्था को देना होगा।

C.A. की नियुक्तियां के बाद मिलने वाला पद कौन सा है?

C.A. की नियुक्तियां के बाद अकाउंटेंट पद मिलेगा।

C.A. क्या कार्य करता है?

एक सीए अकाउंट का काम देखता है।

C.A. की पढ़ाई कितने साल की होती है?

C.A. की पढ़ाई 3 साल की होती है।

निष्कर्ष

तो साथियों हमें आशा करते है की CA कैसे बने आप अछे तरीके से समझ गए होंगे। यह लेख पढने के बाद आपको पता चल गया होगा की एक सीए कैसे बन सकते हैं। अगर आप इस लेख में दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो इसे आपने दोस्तं के साथ शेयर करना न भूलें। और अधिक जानकारी केलिए हमें कमेंट करें, हम आपके हर प्रश्न का उत्तर देंगे।

Leave a Comment