जी.एन.एम के बाद क्या करे?

GNM के बाद क्या करे और कौन सा कोर्स करना सही रहेगा? इसी लेख में आपको इसकी पूरी जानकारी हिंदी में मिलेगा.

GNM Ke Baad Kya Kare? जब तक इस धरती पर इंसान रहेगा तब तक बीमारियां भी रहेंगी, क्योंकि भगवान ने सृष्टि की रचना ही ऐसी की है कि पृथ्वी पर जन्म- मरण का यह चक्र चलता रहता है। जब किसी व्यक्ति का एक्सीडेंट हो जाता है या फिर उसे कोई गंभीर बीमारी हो जाती है, तो उसे अस्पताल में एडमिट करवाया जाता है।

अस्पतालों में मरीजों की देखभाल करने के लिए नर्सिंग डिपार्टमेंट होता है, जिसके अंतर्गत नर्स काम करती है। चूंकि अधिकतर छात्राएं नर्स बनकर मरीजों की सेवा करने हेतु GNM का कोर्स करती है। लेकिन सवाल है GNM के बाद क्या करें जवाब आप इस लेख में जानेंगे।

GNM क्या है?

GNM का संक्षिप्त नाम General Nursing & Midwifery जिसे हिंदी में सामान्य पोषण एवं दाई कहा जाता है। जीएनएम कोर्स क्या है के बारे में अगर अधिक जानकारी चाहिए तो इस आर्डिकल को ध्यान से पढ़ें।

जो लोग अस्पताल के नर्सिंग डिपार्टमेंट में काम करने के इच्छुक होते हैं, वह लोग जीएनएम के साढ़े 3 साल के कोर्स को करते हैं। इस कोर्स से पहले 3 साल में अभ्यर्थियों को एजुकेशन दी जाती है और उसके बाद 6 महीने की इंटर्नशिप अभ्यर्थियों को करनी होती है।

Nursing की फील्ड में अपना कैरियर बनाने की इच्छा रखने वाले विद्यार्थियों को 12वीं कक्षा में कम से कम 50 परसेंट अंकों के साथ केमिस्ट्री, फिजिक्स और बायोलॉजी के सब्जेक्ट के साथ पास करना होता है और उसके बाद उन्हें जब जीएनएम के कोर्स में एडमिशन का नोटिफिकेशन जारी होता है, तब ऑनलाइन एडमिशन के लिए अप्लाई करना होता है। यहाँ से आप पीजी के बाद क्या करे पढ़ सकते है।

GNM के बाद क्या कर सकते हैं?

जीएनएम नर्सिंग के बाद क्या करे या नर्स बनने के लिए विभिन्न देशों में अलग-अलग प्रकार के कोर्स करवाए जाते हैं। हमारे इंडिया में नर्स बनने के लिए सामान्य तौर पर NNM (National Nutrition Mission) और जीएनएम का कोर्स करवाया जाता है।

gnm ke baad kya kare

अगर आपने जीएनएम का कोर्स कर लिया है और आप यह जानना चाहते हैं कि जीएनएम कोर्स करने के बाद क्या करें? तो आइए आपको इस बात की जानकारी प्रदान करते हैं कि जीएनएम के बाद क्या करें अथवा जीएनएम के बाद क्या किया जा सकता है।

#1. हॉस्पिटल ICU

हॉस्पिटल आईसीयू में कम से कम 1 साल की ट्रेनिंग अगर आप जीएनएम के कोर्स को करने के बाद कर लेते हैं, तो यहां से आपको जो भी एक्सपीरियंस सर्टिफिकेट प्राप्त होता है, वह आगे चलकर हॉस्पिटल के क्षेत्र में नौकरी पाने में आपको काफी सहायता प्रदान करता है।

क्योंकि जब आप आगे चलकर किसी भी प्राइवेट हॉस्पिटल में नौकरी के लिए जाएंगे तो यह सर्टिफिकेट आपके काफी काम आएगा और यह सर्टिफिकेट होने के कारण हो सकता है कि आपको नौकरी देने में हॉस्पिटल के द्वारा प्रायोरिटी दी जाए।

#2. प्राइवेट हॉस्पिटल नौकरी

जब आप जीएनएम का कोर्स पूरा कर लेते हैं तो उसके बाद आप नौकरी की खोजबीन चालू कर सकते हैं। जीएनएम के बाद डॉक्टर कैसे बने या जीएनएम का कोर्स पूरा करने के बाद अगर आप प्राइवेट सेक्टर में नौकरी पाना चाहते हैं तो आपको आसानी से जीएनएम के कोर्स को करने के बाद नौकरी मिल सकती है।

प्राइवेट सेक्टर वाले हॉस्पिटल जीएनएम पासआउट लोगों को जल्दी नौकरी पर रख लेते हैं।

हालांकि आपको प्राइवेट हॉस्पिटल में शुरुआत में कम सैलरी मिलती है परंतु जैसे-जैसे आप का एक्सपीरियंस और काम करने का साल बढ़ता जाता है, वैसे वैसे ही प्राइवेट हॉस्पिटल के द्वारा आपकी सैलरी में बढ़ोतरी कर दी जाती है।

#3. गवर्नमेंट हॉस्पिटल में नौकरी

आपको यह जानकर खुशी होगी कि जीएनएम का कोर्स कर लेने के बाद आप गवर्नमेंट सेक्टर में भी नौकरी पाने के लिए एलिजिबल हो जाते हैं।

हालांकि यह इतना आसान नहीं होता है क्योंकि गवर्नमेंट सेक्टर में नौकरी पाने के लिए अथवा गवर्नमेंट हॉस्पिटल में नौकरी पाने के लिए आपको विभिन्न प्रकार की एंट्रेंस एग्जाम देनी पड़ सकती है।

जो अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग नाम से जानी जाती है। जब आप एंट्रेंस एग्जाम को पास कर लेते हैं तो उसके बाद ही आपको नौकरी गवर्नमेंट हॉस्पिटल में नौकरी प्राप्त होती है।

कई राज्यों में एंट्रेंस एग्जाम को पास करने के बाद इंटरव्यू के लिए भी बुलाया जाता है। ऐसे में अगर आप सारी प्रक्रिया को पास कर लेते हैं तो आपका सिलेक्शन गवर्नमेंट हॉस्पिटल में नर्स के पद पर या फिर जीएनएम के पद पर हो जाता है।

#4. बड़े डॉक्टर के असिस्टेंट बने

जीएनएम के कोर्स को पूरा कर लेने के बाद अगर आपको Nursing की फील्ड का ज्यादा एक्सपीरियंस प्राप्त करना है तो आप किसी बड़े डॉक्टर के असिस्टेंट भी बन सकते हैं और वहां पर सैलरी के बेस पर काम करके नौकरी भी कर सकते हैं और धीरे-धीरे मेडिकल से संबंधित अन्य महत्वपूर्ण इंफॉर्मेशन भी प्राप्त कर सकते हैं।

#5. आर्मी नर्स

जीएनएम के कोर्स को करने के बाद आप चाहे तो आर्मी में नर्स की पोस्ट के लिए भी अप्लाई कर सकते हैं।

आर्मी में जिस प्रकार सैनिक, कांस्टेबल और हेड कांस्टेबल की पोस्ट होती है, उसी प्रकार नर्स की भी पोस्ट होती है जो आर्मी हॉस्पिटल में काम करती है।

#6. होम केयर जॉब

अगर आप जीएनएम के कोर्स को पूरा करने के बाद होम केयर जॉब करते हैं, तो आपको बहुत ही अच्छी तनख्वाह प्राप्त हो सकती है।

अगर होम केयर जॉब में सैलरी के बारे में बात करें तो आपको इंडिया के मेट्रो शहर जैसे कि दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, चेन्नई में शुरुआत में ही तकरीबन ₹15,000 से लेकर ₹20,000 की सैलरी प्राप्त हो सकती है।

इसके अलावा इंडिया के ग्रामीण इलाकों में भी आपको कम से कम 11000 से लेकर ₹14000 तक महीने की सैलरी प्राप्त हो सकती है।

अगर आप नहीं जानते कि होम केयर जॉब क्या होती है? बता दें जब किसी मरीज की देखरेख, इलाज उसी के घर में होता है तो इसे Home Care Job कहा जाता है।

GNM करने के बाद सैलरी कितनी मिलती है?

अगर आप जीएनएम का कोर्स कर लेते हैं तो इसके बाद किसी भी प्राइवेट अथवा गवर्नमेंट हॉस्पिटल में आपको शुरुआत में आसानी से ₹12000 से लेकर ₹18000 तक की सैलरी प्राप्त हो सकती है।

अलग-अलग राज्यों में यह सैलरी अलग-अलग हो सकती है। समय बढ़ने पर और एक्सपीरियंस बढ़ने पर सैलरी में बढ़ोतरी भी होती है।

जीएनएम कोर्स की अवधि कितनी है?

जीएनएम 3 साल का कोर्स होता है।

जीएनएम कोर्स किस डिपार्टमेंट से संबंधित होता है?

जीएनएम कोर्स नर्सिंग डिपार्टमेंट से संबंधित होता है।

जीएनएम कोर्स करने के बाद कितनी सैलरी शुरुआत में मिलती है?

शुरुआत में आपको तकरीबन ₹12000 से लेकर ₹15000 के आसपास की सैलरी प्राप्त होती है।

क्या जीएनएम कोर्स करने के बाद आर्मी में नर्स बन सकते हैं?

जी हां जीएनएम कोर्स करने के बाद आप आर्मी में नर्स बन सकते हैं।

GNM के बाद क्या कर सकते हैं?

इसकी पूरी इंफॉर्मेशन हमने आपको ऊपर आर्टिकल में दी है।

निष्कर्ष

तो साथियों इस लेख में आपने जाना के जीएनएम के बाद क्या करे समझ गए होंगे। उम्मीद है इस लेख में दी गई जानकारी काम की साबित होगी । आपको अपने कैरियर में सही काम करने में आसानी होगी और आप इसे शेयर करने के साथ साथ, जीएनएम के बाद क्या करना चाहिए जानकारी कैसे लगा कमेंट में जरूर बताना।

Leave a Comment