गुजरात की राजधानी कहाँ है?

भारत की राजधानी के बारेमे तो हम सभी जानते हैं, लेकिन क्या आपको पता है की गुजरात की राजधानी क्या है? अगर नही तो इस लेख को अंत तक जरुर पढ़े।

चलिए Gujarat Ki Rajdhani Kahan Hai के बारेमे थोड़ी सी जानकारी प्राप्त कर लेते हैं। गुजरात भारत के पश्चिम में स्थित एक राज्य है जिसकी सीमा भारत के पड़ोसी देश पाकिस्तान व भारत के अन्य राज्यों मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र तथा राजस्थान से लगती है। यह राज्य बहुत ही तेजी ही विकास को अपने अंदर समेटते हुए बढ़ता चला जा रहा है। इसलिए अक्सर लोगों के दिमाग में राजस्थान की राजधानी कहा है? यह प्रश्न उठता है।

आज इस आर्टिकल के माध्यम से हम गुजरात की राजधानी के बारे में तो जानेंगे ही बल्कि उससे आगे बढ़ कर हम गुजरात की राजधानी से जुड़े कुछ और अन्य महत्त्वपूर्ण बातें भी जानेंगे, इसलिए इस आर्टिकल को अंत तक ध्यानपूर्वक जरूर पढ़े।

गुजरात की राजधानी कहाँ पर है?

गुजरात की राजधानी गांधीनगर है, जिसको की हरित नगर यानी ग्रीन सिटी के नाम से भी जाना जाता है। परम पूज्य मोहन दास करम चंद्र गांधी जी की याद में इस शहर का नाम गांधीनगर रखा गया था। इस शहर और पूरे राज्य की राजभाषा गुजराती है।

Gujarat Ki Rajdhani Kaha Hai

गुजरात राज्य को यदि क्षेत्रफल की दृष्टि से देखा जाए जोकि 1,96,024 वर्ग किलोमीटर है, उसके हिसाब यह भारत में पांचवा सबसे बड़ा राज्य है। गुजरात राज्य मन भारत की सबसे लंबी तटीय रेखा है, जिसकी लंबाई लगभग 1,600 किमी है।

गुजरात राज्य में कुल जिलों की संख्या 33 है, जिनमे से एक वहां की राजधानी है। अगर आपको अमेरिका की राजधानी कहाँ है जानना है तो इसे पढ़े।

गुजरात की राजधानी गांधीनगर कब और कैसे बनी?

गुजरात के इतिहास पर यदि नजर डाला जाए तो पता चलता है गांधीनगर का नाम भारतीय राष्ट्रवादी आंदोलन के महान नेता महात्मा गांधी जी की स्मृति में रखा गया था। गांधीनगर को राजधानी के रूप में बनाने के लिए यह शहर साल 1966 में स्थापित किया गया था और राज्य सरकार के सभी मुख्य कार्यालाओ को 1970 में यहां स्थानांत्रित कर दिया गया था।

देखते ही देखते यह शहर गुजरात राज्य के एक प्रमुख संस्कृतिक केंद्र के रूप में भी उभर आया। पुराने महाराष्ट्र राज्य के विभाजन के कारण गुजरात राज्य का गठन साल 1960 में हुआ था। गुजरात राज्य के गठन के कारण इस राज्य की राजधानी शुरुआत में अहमदाबाद रखी गई थी।

लेकिन अहमदाबाद की जनसंख्या को नियंत्रित करने के लिए, यहां से राजधानी से हटा कर गुजरात राज्य के लिए एक नई राजधानी गांधीनगर को बनाया गया। विरासत, इतिहास और संस्कृति तीनों का मिश्रण गांधीनगर में हर तरफ देखने को मिल जाता है।

गुजरात की राजधानी गांधीनगर से जुड़े कुछ रोचक तथ्य

  • गांधीनगर अपनी सीमाएं 5 शहरो के साथ शेयर करता है- साबरकांठा, अरावली, महेसना, खेड़ा और अहमदाबाद।
  • गांधीनगर क्षेत्रफल के लिहाज से गुजरात का अट्ठारवा सबसे बड़ा जिला है, जो मुख्य रूप से चार तहसील और 402 गांवो से मिल कर बना है।
  • गुजरात के कुल क्षेत्रफल के 50 प्रतिशत में केवल पेड़ पौधे मौजूद हैं।
  • साक्षरता की बात करें, तो जिले की कुल साक्षरता दर 84.16 है। साक्षरता के लिहाज से गांधीनगर गुजरात का चौथा और भारत का ग्यारवा सबसे अधिक साक्षरता वाला शहर है।
  • चंडीगढ़ के बाद नियोजित व सबसे खूबसूरत शहर गांधीनगर ने हरियाली के मामले में अपनी विशेष पहचान कायम करी है यह शहर साबरमती के तट पर स्थित है।
  • यह शहर दुनिया से सबसे खूबसूरत मंदिरों में से एक अक्षरधाम मंदिर के लिए भी प्रसिद्ध है।
  • साल 2011 में हुई जनगणना के अनुसार जिले की कुल जनसंख्या 13,91,000 हजार है। जिसमे में 7,32,000 पुरुष और 6,67,000 महिलाएं है।

गुजरात की राजधानी गांधीनगर के प्रमुख पर्यटन स्थल

गांधीनगर गुजरात की राजधानी है और भारत का सातवां सबसे बड़ा शहर भी है। इसमें गांधी स्मृति, अक्षरधाम मंदिर और सरदार पटेल की प्रतिमा सहित कई पर्यटक आकर्षण हैं।

यह गुजरात सरकार और भारत के कुछ सबसे प्रतिष्ठित शैक्षणिक संस्थानों जैसे आईआईएम-ए, नेशनल लॉ स्कूल ऑफ इंडिया यूनिवर्सिटी, इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी गांधीनगर का भी घर है।

#1. पुनीत वन

गांधीनगर को हरित राज्य के नाम से भी जाना जाता है, जिसमे पुनीत वन की अहम भूमिका है। इस वन क्षेत्र में 3500 से ज्यादा वृक्ष है, जो की 4 हिस्सों में फैले हुए हैं। वन का यह विभाजन पौराणिक और ज्योतिष आधार पर किया गया है। साथ ही यहां के पेड़ पौधों के नाम तारो, ग्रहों और राशियों के ऊपर रखे गए हैं।

#2. संत सरोवर डैम

साबरमती के ऊपर बना यह बांध बहुत विशाल है और इस जगह के आस पास बहुत बड़ी खुली जगह है। यह बांध बीते कुछ सालों में गांधीनगर का एक प्रमुख पर्यटन स्थल बन गया है।

#3. दांडी कुटीर

दांडी कुटीर जिसे सॉल्ट म्यूजियम भी कहते है। यह महात्मा गांधी जी के सम्मान में बनवाया गया एक उत्कृष्ट संग्रहालय है। यहां पर जाते ही सबसे पहले तो इस संग्रहालय की विशालनुमा इमारत आपको आकर्षित कर देगी और यहां पर महात्मा गांधी जी के जीवन से जुड़ी कई महत्वपूर्ण वस्तुएं भी रखी गई हैं।

#4. सरिता उद्यान

यह उद्यान गांधीनगर के संत सरोवर बांध के पास स्थित है। इस उद्यान के बगल में आपको साबरमती नदी के सौम्य नजारे भी देखने को मिलते हैं।

#5. रॉयल ट्रेन पार्क

यह गांधीनगर में बच्चों के साथ साथ पूरे परिवार के लिए घूमने की प्रमुख जगह है। यह पार्क गांधीनगर रेलवे स्टेशन से मात्र 6 किमी और हवाई अड्डे से 23 किलोमीटर दूर है।

#6. अदलज बावली

इस जगह को देखने के लिए शहर के भीड़ भाड़ से हट कर दक्षिण पश्चिमी छोर का रुख करना पड़ता है। यह स्थान 500 साल से भी ज्यादा पुराना है। इसका निर्माण पानी की किल्लत न हो इसलिए किया गया था, इस बावली की दीवारों पर की गई महीन कारीगरी काफी आकर्षक लगती है।

गांधीनगर गुजरात की राजधानी कब बनी?

गांधीनगर गुजरात की राजधानी साल 1970 में बनी।

क्या गांधीनगर से पहले भी गुजरात की कोई राजधानी थी?

जी हां, साल 1960 से 1970 तक अहमदाबाद गुजरात की राजधानी थी, लेकिन वहां की बढ़ती हुई जनसंख्या को देखते हुए राजधानी को गांधीनगर बना दिया गया।

गांधीनगर में सबसे ज्यादा प्रसिद्ध क्या है?

गांधीनगर में स्तिथ अक्षरधाम मंदिर वहां पर सबसे ज्यादा प्रसिद्ध है।

निष्कर्ष

तो दोस्तो आज के इस आर्टिकल में आपने जाने की गुजरात की राजधानी कहाँ है और अहमदाबाद से गांधीनगर गुजरात की राजधानी और क्यों बनी, इसके साथ ही यहां के पर्यटन स्थलों के बारे में भी जाना। यदि आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे अपने सभी दोस्तो के साथ शेयर करना बिलकुल भी न भूले, जिससे उन्हें भी गांधीनगर के बारे में पता चल सके।

Leave a Comment