एम.ए के बाद क्या करें?

मास्टर ऑफ आर्ट्स प्रोग्राम दो साल का डिग्री प्रोग्राम है, जिसका का लक्ष्य छात्रों को साहित्य और कला, साथ ही विज्ञान और मानविकी में व्यापक और संतुलित शिक्षा प्रदान करना है।

दसवीं कक्षा पास करने के बाद मुख्यतया हमारे पास 3 Streams होती है, हम Marks के आधार पर किसी भी एक स्ट्रीम का चुनाव करके हम उस फील्ड या प्रोफेशन में जा सकते हैं जहां हम अपना कैरियर बनाना चाहते हैं।

जो स्टूडेंट्स Arts चुनते हैं वे सामान्यतः 12वीं कक्षा को पास करने के बाद BA का कोर्स करते हैं और बी ए का कोर्स पूरा करने के बाद हायर एजुकेशन के लिए M.A का कोर्स करते हैं। पर सवाल है MA करने के बाद हमारे जीवन में क्या-क्या कैरियर ऑप्शंस होते हैं? या फिर MA के बाद क्या करे! जानना चाहते हैं तो यह लेख आपके लिए है।

M.A क्या है?

Master of Arts के सब्जेक्ट में विद्यार्थियों को Arts से संबंधित पढ़ाई करवाई जाती है। यह कोर्स 12वीं कक्षा को पास करने के बाद BA के 3 साल के कोर्स को कंप्लीट करने के बाद किया जाता है। यहाँ से आप BEd के बाद क्या करे पढ़ सकते है।

MA ke Baad Kya Karen

मास्टर ऑफ आर्ट के कोर्स को पोस्ट ग्रेजुएशन डिग्री कोर्स भी कहा जाता है। अन्य कोर्स की तुलना में विद्यार्थियों को यह कोर्स आसान लगता है।

MA के बाद क्या करना चाहिए?

जब अभ्यर्थी बीए के कोर्स को पूरा करने के बाद एम्.ए के कोर्स में एडमिशन लेता है तो उसे इस कोर्स को कंप्लीट करने में कुल 2 साल का समय लगता है। मास्टर ऑफ आर्ट का कोर्स पूरा करने के बाद स्टूडेंट के सामने कैरियर में कई सारे ऑप्शन मौजूद हो जाते हैं।

जिसमे वह अपनी पसंद के अनुसार कोई भी ऑप्शन सिलेक्ट कर सकता है। और अपने अच्छे कैरियर के लिए अपने कदम आगे बढ़ा सकता है। चलिए एमए फाइनल के बाद क्या करे जानते है।

पि.एच.डी (Doctor of Philosophy)

मास्टर ऑफ Arts के कोर्स को पूरा करने के बाद अगर आप प्राइवेट या फिर गवर्नमेंट कॉलेज में प्रोफेसर की पोस्ट प्राप्त करना चाहते हैं या फिर लेक्चरर बनना चाहते हैं तो आप इस कोर्स को करने के बाद पीएचडी का कोर्स कर सकते हैं, क्योंकि पीएचडी के कोर्स को करने के लिए पोस्ट ग्रेजुएट लेवल की डिग्री मांगी जाती है और मास्टर ऑफ आर्ट की डिग्री पोस्ट ग्रैजुएट लेवल की डिग्री ही होती है।

पीएचडी के कोर्स को पूरा करने के बाद आप किसी भी गवर्नमेंट या फिर प्राइवेट यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर बनने के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

एचआर (Human Resource Management)

लगभग तमाम छोटी और बड़ी कंपनियों में नए वर्करों की भर्ती करने के लिए, उनकी समस्याओं को सुलझाने के लिए और उन्हें काम के बारे में बताने के लिए एचआर डिपार्टमेंट बनाया जाता है।

इस प्रकार M.A. के कोर्स को पूरा करने के बाद आप किसी भी कंपनी में एचआर की पोस्ट प्राप्त करने के लिए हुमन रिसोर्स मैनेजमेंट का कोर्स कर सकते हैं। इस कोर्स को करने के बाद आप छोटी अथवा बड़ी कंपनी में एचआर की पोस्ट के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

M.A करने के बाद गवर्नमेंट जॉब के लिए अप्लाई करें

किसी भी प्रकार की गवर्नमेंट जॉब में अप्लाई करने के लिए मास्टर ऑफ आर्ट की डिग्री काफी होती है। अगर आपने मास्टर ऑफ आर्ट का कोर्स कर लिया है तो इस कोर्स को पूरा करने के बाद आप इंडिया की अलग-अलग प्रकार की गवर्नमेंट जॉब के लिए अप्लाई कर सकते हैं जिनके नाम निम्न प्रकार हैं।

  • इंडियन फॉरेन सर्विस
  • इंडियन रेलवे जॉब्स
  • इंडियन पुलिस सर्विस
  • इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस
  • बैंक क्लर्क
  • लेखपाल
  • पटवारी
  • एनटीपीसी वैकेंसी
  • BHEL
  • GAIL
  • ओएनजीसी
  • इंडियन ऑयल
  • स्टाफ सिलेक्शन कमीशन
  • यूपीएससी

प्राइवेट सेक्टर में नौकरी के लिए अप्लाई करें

एम्.ए का कोर्स करने के बाद अगर आप नौकरी करना चाहते हैं, तो आप ऐसा कर सकते हैं। अगर आप बेरोजगार हैं तो एम्.ए के कोर्स को करने के बाद आप किसी भी कंपनी में नौकरी के लिए अप्लाई कर सकते हैं और जहां तक हमारा मानना है कि आपको आसानी से अपनी योग्यता और एलिजिबिलिटी के दम पर नौकरी प्राप्त हो जाएगी।

डाटा एंट्री कोर्स

वैसे तो डाटा एंट्री का कोर्स आप 10 वीं कक्षा को पास करने के बाद भी कर सकते हैं परंतु आप इसे एम्.ए के कोर्स को पूरा करने के बाद भी कर सकते हैं। डाटा एंट्री के Course को पूरा करने के बाद आप किसी भी कंपनी में डाटा एंट्री ऑपरेटर की पोस्ट के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

इसके अलावा इस कोर्स को करने का एक फायदा यह भी है कि, गवर्नमेंट सेक्टर में भी अक्सर डाटा एंट्री की जॉब निकलती रहती है, ऐसे में अगर आपका सिलेक्शन उसमें हो जाता है तो आपको अच्छी Salary प्राप्त हो सकती है।

B.Ed/ बीटीसी

अगर आपकी इच्छा टीचिंग लाइन में जाने की है और विद्यार्थियों को पढ़ाने की है तो आप MA Course को पूरा करने के बाद बैचलर ऑफ एजुकेशन या फिर बेसिक ट्रेनिंग सर्टिफिकेट (BTC) का कोर्स भी कर सकते हैं। इस कोर्स को पूरा करने के बाद आप टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट को पास कर सकते हैं और इस टेस्ट को पास करने के बाद प्राइमरी स्कूल में टीचर की पोस्ट प्राप्त कर सकते हैं।

LLB

अगर आपको वकील बनना है या फिर आप वकालत की फील्ड में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं, तो मास्टर ऑफ Arts के कोर्स को पूरा करने के बाद आप एलएलबी का कोर्स कर सकते हैं। एलएलबी का कोर्स करने के बाद आप वकील बन सकते हैं और अपने अच्छे कार्यकाल और अपने एक्सपीरियंस के दम पर आप हाईकोर्ट के जज भी आगे चलकर बन सकते हैं।

इसके अलावा आप चाहे तो एलएलबी का कोर्स करने के बाद लीगल एडवाइजर भी बन सकते हैं।

मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (MBA)

मास्टर ऑफ Arts का कोर्स करने के बाद आप बिजनेस फील्ड का एक्सपीरियंस प्राप्त करने के लिए एमबीए यानी की मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन का कोर्स कर सकते हैं। इस कोर्स के अंदर आपको बिजनेस से संबंधित बहुत ही महत्वपूर्ण बातों के बारे में काफी गहराई से बताया जाता है‌ वह भी प्रैक्टिकल तौर पर।

एमबीए Pass out लोगों को आसानी से फाइनेंस की Field में नौकरी प्राप्त हो जाती है, तो अगर आपने M.A. कर लिया है तो इस कोर्स को आप कर सकते हैं।

M.A का Full Form क्या है?

Master of Arts

क्या एमए का कोर्स करने के बाद गवर्नमेंट जॉब के लिए अप्लाई कर सकते हैं?

बिल्कुल

एम.ए का कोर्स कब किया जाता है?

बी.ए का कोर्स करने के बाद

M.A. का कोर्स कितने साल का होता है?

2 साल का

M.A. के कोर्स की फीस कितनी होती है?

बिभिन्न कॉलेज में अलग अलग Fees होती है

एम.ए के सब्जेक्ट कौन से होते हैं?

इतिहास, राजनीति, भूगोल, कला, समाजशास्त्र

निष्कर्ष

तो साथियों इस लेख में आपने जाना के एमए के बाद क्या करे। उम्मीद है इस लेख में दी गई जानकारी काम की साबित होगी । आपको अपने कैरियर में सही सब्जेक्ट का चुनाव करने में आसानी होगी और आप इसे शेयर भी जरूर करेंगे।

Leave a Comment