नेपाल की राजधानी कहाँ है?

अगर आपको नेपाल की राजधानी कहाँ पर है और नेपाल की राजधानी कहा है के बारेमे अधिक जानकारी प्राप्त करना है तो इस article को अंत तक जरुर पढ़े।

यहाँ पर हम जानेंगे की Nepal Ki Rajdhani Kahan Hai. जिस भूमि पर विशाल माउंट एवरेस्ट सीना तान खड़ा है और महात्मा बुद्ध जहां के निवासी थे, वह जगह है नेपाल। इस देश के साथ हमारे भारत के ऐसे मैत्री संबंध हैं कि वहां घूम कर आने के लिए हमसे वीजा, पासपोर्ट भी नही मंगा जाता। नेपाल की संस्कृति और आबो-हवा ऐसी है कि हम उससे बेटी और रोटी का रिश्ता रखते आए हैं।

यह एक मात्र ऐसा देश है जिसे हिंदू राष्ट्र होने का गौरव प्राप्त है इस देश को पूरे साउथ एशिया का सबसे पुराना देश कहा जाता है। हिमालय की हसीन वादियों से गिरा हुआ, सुहावने मौसम वाले यह देश अपने आप में एक अचंभा है। हर तरफ प्राचीन शैलियों में बने घर यहां घूमने आने वालों को एक अलग ही अनुभव देते है।

नेपाल घूमे के लिहाज से बहुत ही सुंदर देश है। बिलकुल वैसे ही यहां की राजधानी भी बहुत सुंदर है और यहां के लोग पर्यटकों का काफी आदर सत्कार करते है। तो आज के इस आर्टिकल में हम नेपाल और नेपाल की राजधानी कौन सी है के बारे में जानेंगे, इसलिए इस आर्टिकल में अंत तक जरूर बने रहे।

नेपाल की राजधानी क्या है?

नेपाल की राजधानी काठमांडू है। भगवान पशुपति यानी शिव जी को समर्पित पशुपतिनाथ मंदिर नेपाल के जिस शहर में है, वही यहां की राजधानी है। आप ने जरूर सोच लिया होगा, यदि नहीं तो वह शहर काठमांडू है। इस शहर में मंदिर काफी संख्या में है, जिसकी वजह से यदि इस शहर को सिर्फ मंदिरों का शहर कहा जाए तो यह गलत नही होगा।

Nepal Ki Rajdhani Kahan Hai

पशुपतिनाथ मंदिर नेपाल की राजधानी काठमांडू से 3 किलोमीटर उत्तर-पश्चिम में देवपाटन गांव में बागमती नदी के तट पर स्थित है। जिसके विषय में यह माना जाता है की आज भी यहां भगवान शिव की मौजूदगी है। अगर आपको भारत की राजधानी कहाँ है जानना है तो इसे पढ़े।

आप ये भी पढ़ सकते है:

  1. अमेरिका की राजधानी कहाँ है?
  2. ऑस्ट्रेलिया की राजधानी कहाँ है?
  3. कंबोडिया की राजधानी कहाँ है?
राजधानीकाठमांडू
साम्राज्य गठन25 सितंबर 1768
सुगौली की संधि गठन4 मार्च 1816
1923 की नेपाल-ब्रिटेन संधि गठन21 दिसंबर 1923
संघीय गणराज्य गठन28 मई 2008
वर्तमान संविधान गठन20 सितंबर 2015

नेपाल की राजधानी काठमांडू का रहस्यमई पशुपतिनाथ मंदिर

Nepal Ki Rajdhani: यहां की मान्यता है की जो भी व्यक्ति इस स्थान के दर्शन करता है, उसको किसी भी जन्म में पशु योनि प्राप्त नही होती है।

साथ ही में यह भी माना जाता है की पशुपतिनाथ जी के दर्शन करने वाले व्यक्ति को सबसे पहले नन्दी के दर्शन नही करने चाहिए। यदि ऐसा होता है तो उस व्यक्ति हो पशु योनि मिलना तय होता है, इस मंदिर के बाहर एक घाट स्थित है, जिसे आर्य घाट के नाम से जाना जाता है। निचे दिए गयी टेबल से आपको नेपाल के बारेमे अधिक जानकारी मिल जायेगा।

सरकारसंघीय संसदीय गणतंत्र
राष्ट्रपतिविद्या देवी भंडारी
वाईस प्रेजिडेंटनंद किशोर पूण
प्राइम मिनिस्टरशेर बहादुर देउबा
मुख्य न्यायाधीशचोलेन्द्र शमशेर जब राणा

पौराणिक काल से ही केवल इसी घाट के पानी को मंदिर के अंदर ले जाने का प्रावधान है। अन्य किसी भी तरह का किसी भी जगह का पानी मंदिर में नहीं के जा सकते है। आपको यह जान कर हैरानी होगी की पशुपतिनाथ मंदिर का ज्योतिरलिंग पंचमुखी है, ऐसा माना जाता है की यह पारस पत्थर के समान है जो लोहे को भी सोना बना सकता है।

इस शिवलिंग तक आने के 4 द्वार हैं, चारो द्वार चांदी के है। पश्चिमी द्वार के सामने भगवान शिव जी के बैल नंदी जी की विशाल प्रतिमा है, जिसका निर्माण पीतल से हुआ है। पशुपतिनाथ जी के चार मुख, तंत्र विद्या के 4 बुनियादी सिद्धांत है। लोगों का यह भी कहना है की चारों वेदों के बुनियादी सिद्धांत भी यहीं से निकले थे क्योंकि कहा जाता है यह शिवलिंग वेद लिखे जानें के पहले ही स्थापित हो गया था।

नेपाल की राजधानी काठमांडू से जुड़े कुछ रोचक तथ्य।

निचे दिए गयी तथ्य से आपको नेपाल की राजधानी का नाम और राजधानी काठमांडू से जुड़े कुछ रोचक तथ्य के बारेमे पता चल जायेगा।

  • काठमांडू शहर की कुल आबादी 14 लाख है।
  • काठमांडू सिर्फ नेपाल की राजधानी के लिए ही नही प्रसिद्ध है बल्कि यह दुनिया का एक मात्र ऐसा शहर है जो धरती से लगभग 4500 फीट ऊपर बसा हुआ है।
  • यहां का मौसम हमेशा ठंडा होता है, इसलिए लोग हमेशा यहां पर आपको स्वेटर में ही दिखेंगे।
  • काठमांडू को स्पिरिचुअल शहर भी माना जाता है क्योंकि यहां हर 10 कदम पर एक बौद्ध मंदिर है और सभी मंदिर 1000 साल पुराने माने जाते हैं।
  • महादेव की नगरी के नाम से जाना जाने वाले इस शहर के प्रसिद्ध पशुपति नाथ मंदिर का दर्शन करने दुनिया भर से लोग आया करते हैं, कहा जाता है यहां आकर आप जिस भी चीज की कामना भोलेनाथ जी से करते हैं वो सभी मन्नतें पूरी होती हैं।
  • नेपाल निवासियों की माने तो हजारों साल पहले यह जगह एक समुद्र हुआ करती थी जहां सांपों का काफी दबदबा हुआ करता था, लेकिन एक समय मंजूश्री नाम के एक योद्धा ने आकर यहां के सांपों और समुद्र के पानी को बाहर निकाल दिया और एक शहर का निर्माण कर दिया जोकि मंजूपथ नाम से भी जाना जाता है।
  • काठमांडू का इतिहास भी बहुत पुराना है, आपको जान कर हैरानी होगी की आज से हजारों साल पहले भी यहां पर लोग रहा करते थे, यहां पर सभी व्यक्ति बहुत ज्ञानी स्वभाव के होते थे ज्यादातर लोग यहां पर बौद्ध और हिंदू धर्म को मानते हैं।
  • प्राचीन समय के दौरान सिर्फ काठमांडू ही भारत और तिब्बत के बीच का एकमात्र व्यापारिक रास्ता था, काठमांडू से ही एशिया के कई देशों में व्यापार किया जाता था, आज भी अगर इस शहर पर ठीक से ध्यान दिया जाए तो यह दुनिया का सबसे बड़ा बिजनेस हब बन सकता है।
  • काठमांडू शहर की किसी भी जगह पर चले जाइए आप, हर जगह से आपको माउंट एवरेस्ट पहाड़ की चोटी देखने को मिलेगी।
आधिकारिक भाषायेंनेपाली
धर्म (2011)81.3% हिंदू धर्म | 9.0% बौद्ध धर्म | 4.4% इस्लाम | 3.1% किरण
1.4% ईसाई धर्म | 0.5% प्रकृति | 0.3% अन्य
क्षेत्र147,516 km2
पानी (%)2.8
जनसंख्या 2021 अनुमान30,034,989
मुद्रानेपाली रुपया (Rs, रू) (NPR)

नेपाल की राजधानी काठमांडू के मुख्य पर्यटन स्थल।

  1. पशुपतिनाथ मंदिर
  2. बौधनाथ
  3. स्वयंभूनाथ स्तूप
  4. थमेली
  5. कोपन मठ
  6. सपनों का बगीचा
  7. दरबार स्क्वायर काठमांडू
  8. हनुमान ढोका मंदिर
  9. कुमारी हाउस
  10. बुद्ध नीलकंठ
  11. नारायणहिती पैलेस
  12. इंद्र चौक
  13. जगन्नाथ मंदिर
  14. फ्रीक स्ट्रीट
  15. तौदाहा झील

काठमांडू नेपाल की राजधानी कब बनी?

काठमांडू नेपाल की राजधानी साल 1768 में बनी।

नेपाल की राजधानी काठमांडू की खासियत क्या है?

नेपाल की राजधानी काठमांडू की खासियत यह है कि यह दुनिया का अकेला एक ऐसा शहर है जो समुद्र तल से 45000 फीट की ऊंचाई पर बसा है।

नेपाल की राजधानी काठमांडू में पर्यटन की दृष्टि से सबसे अहम स्थान कौन सा है?

पर्यटन की दृष्टि से काठमांडू का सबसे अहम स्थान पशुपतिनाथ मंदिर है।

काठमांडू को और किस नाम से भी जाना जा सकता है?

मंदिरों का शहर।

निष्कर्ष

तो दोस्तों आज के हिसाब कल मैं आपने नेपाल और नेपाल की राजधानी कहाँ है के बारे में जाना। यदि आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना बिलकुल भी ना भूले, जिससे उन्हें भी नेपाल की राजधानी काठमांडू के बारे में जानकारी हो सके।

Leave a Comment