PCS अफसर कैसे बने?

अगर आप PCS की तैयारी में हो या फिर आपको PCS कैसे बनते हैं के बारे में पता नहि है तो इस लेख आपके लिए बहुत फ़ैदेमंद साबित होगा।

आखिर कोई PCS कैसे बने? आपने अक्सर अखबारों में या फिर टीवी पर यह देखा होगा कि कोई फलाना व्यक्ति पीसीएस ऑफिसर बन गया है। ऐसे में आपको यह जानने की इच्छा होती होगी कि पीसीएस कैसे बना जाता है? आज हम विद्यार्थी गवर्नमेंट जॉब पाने की इच्छा रखता है और इसीलिए विद्यार्थी बहुत ज्यादा मेहनत करते हैं गवर्नमेंट जॉब पाने के लिए।

परंतु इसके बावजूद भी वह गवर्नमेंट जॉब पाने में सफलता हासिल नहीं कर पाते हैं, जिसके पीछे सबसे बड़ा कारण होता है जानकारी का अभाव होना। अगर आपको किसी अपने लक्ष्य को भेदकर अपनी मंजिल प्राप्त करनी है तो आपको इसके रास्ते के बारे में जानकारी होनी चाहिए, तभी आप अपनी मंजिल को हासिल कर सकेंगे। तो आइए जानते हें कि पीसीएस अधिकारी कैसे बने के बरेमे पूरी जानकारी हिंदी में।

PCS कैसे बने?

अगर कोई ये जानना चाहता है की एक पीसीएस अधिकारी कैसे बना जाता है, उन्हें सबसे पहले कठिन परिश्रम करने के लिए तैयार रहना पड़ेगा, क्योंकि पीसीएस ऑफिसर बनना कोई बच्चों का खेल नहीं है।

PCS Kaise Bane
PCS कैसे बने

अगर आप पीसीएस ऑफिसर बनने की तैयारी कर रहे हैं, तो आपको यह जानना अति आवश्यक है कि, पीसीएस क्या है? पीसीएस के लिए योग्यता क्या है और पीसीएस कैसे बना जाता है।

पीसीएस क्या है?

PCS कैसे बनते है? PCS याने की प्रोविंशियल सिविल सर्विस, जिसे हिंदी भाषा में राज्य सिविल सेवा कहा जाता है। जो भी अभ्यर्थी पीसीएस ऑफिसर बनने की इच्छा रखता है, उसे स्टाफ सिलेक्शन कमीशन के द्वारा करवाई जाने वाली PCS की एग्जाम में शामिल होना पड़ता है और इसके एग्जाम को पास करने के बाद ही वह पीसीएस ऑफिसर बनता है।

जो भी ऑफिसर पीसीएस बनता है वह राज्य सरकार के अंडर में काम करता है। जिस प्रकार आईएएस ऑफिसर का अन्य राज्यों में ट्रांसफर हो जाता है,उस प्रकार पीसीएस अधिकारी का अन्य राज्यों में ट्रांसफर नहीं होता है, वह उसी राज्य में काम करते हैं, जिस राज्य से वह पीसीएस अधिकारी होते हैं।

PCS के लिए क्वालिफिकेशन क्या है?

पीसीएस ऑफिसर बनने के लिए स्टूडेंट को किसी भी मानता प्राप्त इंडियन इंस्टिट्यूट से ग्रेजुएशन की डिग्री को पूरा करना जरूरी है। अगर आप डिस्टेंस लर्निंग करते हैं, तो आप पीसीएस के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

PCS के लिए उम्र

इंडियन गवर्नमेंट के द्वारा पीसीएस ऑफिसर बनने के लिए हर समुदाय के लिए अलग-अलग उम्र सीमा यानी की एज लिमिट तय की गई है,जिसकी जानकारी इस प्रकार है।

  • जनरल समुदाय: जनरल समुदाय की महिला और पुरुष अभ्यर्थी कम से कम 21 साल और अधिक से अधिक 40 साल तक पी सी एस ऑफिसर बन सकते हैं।
  • ओबीसी समुदाय: ओबीसी समुदाय की महिला और पुरुष अभ्यर्थी कम से कम 21 साल और अधिक से अधिक 43 साल तक पी सी एस ऑफिसर बन सकते हैं।
  • अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति: अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति यानी की एससी-एसटी वर्ग की महिला और पुरुष अभ्यर्थी कम से कम 21 साल और अधिक से अधिक 45 साल तक पी सी एस ऑफिसर बनने की एज लिमिट रखते हैं।

PCS बनने की प्रक्रिया क्या है?

राज्य संघ लोक सेवा आयोग के द्वारा पीसीएस अधिकारी बनने के लिए परीक्षा का आयोजन करवाया जाता है, जो कुल 3 चरणों में विभाजित होती है। इन तीनों चरणों को सफलतापूर्वक पास करने के बाद ही अभ्यर्थी को पीसीएस अधिकारी बनने का मौका मिलता है।

#1. PCS की प्रारंभिक परीक्षा

पीसीएस की प्रारंभिक परीक्षा में अभ्यर्थियों को टोटल 2 क्वेश्चन पेपर के जवाब देने होते हैं,जिनमें से दोनों क्वेश्चन पेपर जनरल स्टडी से संबंधित होते हैं और यह दोनों क्वेश्चन पेपर ऑब्जेक्टिव टाइप के होते हैं।

परीक्षा कमेटी के द्वारा दो 2-2 घंटे का समय इस क्वेश्चन पेपर को देने के लिए दिया जाता है। यह दोनों क्वेश्चन पेपर टोटल 200-200 अंकों के होते हैं,जिसमें से पहला क्वेश्चन पेपर 150 सवालों का होता है और दूसरा क्वेश्चन पेपर 100 सवालों का होता है।

इस एग्जाम में नेगेटिव मार्किंग भी होती है।हर गलत उत्तर देने पर आपके 1/3 अंक काट जाते हैं। पीसीएस की मुख्य परीक्षा में शामिल होने के लिए आपको इसकी प्रारंभिक एग्जाम को कम से कम 33% अंकों के साथ पास करना जरूरी है।

#2. पीसीएस के मुख्य एग्जाम

पीसीएस की प्रारंभिक एग्जाम में जो अभ्यर्थी पास हो जाते हैं, उन्हें इसके बाद इसकी मुख्य एग्जाम में शामिल होने का मौका मिलता है,जिसमें अनिवार्य विषयों में कुल 4 क्वेश्चन पेपर 200- 200 अंकों के होते हैं।

इसके अलावा 2 प्रश्न पत्र 150-150 अंकों के होते हैं, साथ ही इसमें दो ऑप्शनल सब्जेक्ट भी होते हैं, जो 200-200 अंकों के होते हैं।

#3. PCS इंटरव्यू

जो अभ्यर्थी पीसीएस की प्रारंभिक एग्जाम और मुख्य परीक्षा को पास करने में सफलता हासिल कर लेते हैं, उन्हें इसके बाद इंटरव्यू में शामिल होने का मौका मिलता है। यह इंटरव्यू टोटल 100 अंक का होता है। पीसीएस ऑफिसर बनने के लिए आपको इंटरव्यू में अच्छे अंक लाने पड़ते हैं। इसीलिए इंटरव्यू की तैयारी अच्छे से करके जाएं।

बता दें कि पीसीएस के मुख्य एग्जाम और इंटरव्यू में जो अंक प्राप्त होते हैं उन्ही को आपस में मिलाकर के एक मेरिट लिस्ट तैयार की जाती है और उसी मेरिट लिस्ट के आधार पर लोगों को रैंक प्राप्त होती है।

मेरिट लिस्ट में नाम आने के बाद आपको ट्रेनिंग पर भेज दिया जाता है, जो कि सामान्य तौर पर 6 महीने या फिर 1 साल तक चलती है और ट्रेनिंग कंप्लीट होने के बाद आपको पीसीएस ऑफिसर के पद पर पोस्टिंग दे दी जाती है,जिसके बाद आप पी सी एस ऑफिसर बन जाते हैं। आप जो ट्रेनिंग करते हैं, उसकी सैलरी भी आपको ट्रेनिंग पूरी करने के बाद प्राप्त होती है।

PCS की सैलेरी

इंडिया में पीसीएस ऑफिसर की सैलरी के बारे में बात की जाए तो इनकी सैलरी हर राज्य में अलग-अलग होती है। उदाहरण के स्वरूप उत्तर प्रदेश राज्य में पीसीएस ऑफिसर को तकरीबन ₹60000 से लेकर ₹75000 तक की सैलरी महीने में प्राप्त होती है।

इसी प्रकार राजस्थान राज्य में पीसीएस ऑफिसर को महीने में तकरीबन ₹55000 से लेकर ₹62000 तक की सैलरी प्राप्त होती है।

PCS को अंग्रेजी में क्या कहते हैं?

पीसीएस को अंग्रेजी में Provincial Civil Service कहते हैं।

PCS ऑफिसर बनने के लिए कौन सी पढ़ाई करनी पड़ती है?

पी सी एस ऑफिसर बनने के लिए आपको किसी भी विषय में ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी करनी पड़ती है।

पी सी एस ऑफिसर को नौकरी कहां मिलती है?

पीसीएस ऑफिसर को उसी राज्य में नौकरी मिलती है, जिस राज्य से वह पीसीएस ऑफीसर बनता है।इनका तबादला दूसरे राज्य में नहीं किया जाता है।

निष्कर्ष

तो साथियों हम आशा करते हैं की आप PCS कैसे बने हिंदी में अच्छे तरीके से समझ पाए होंगे और यह लेख आपकी PCS की तैयारी को और भी आगे ले जाएगा। अगर आप यह लेख से संतुष्ट है तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करने के साथ साथ हमें कमेंट करना ना भूलें।

Leave a Comment