राजस्थान की राजधानी कहाँ है?

अगर आपको Rajasthan Rajdhani Name और राजस्थान की कैपिटल क्या है के बारेमे अधिक जानकारी प्राप्त करना है तो इस लेख को अंत तक जरुर पढ़े।

चलिए आज हम जानेंगे की Rajasthan Ki Rajdhani Kahan Hai, भारत में 3,42,239 वर्ग किलोमीटर में फैला राजस्थान क्षेत्रफल के हिसाब से भारत का प्रथम राज्य है, और वहीं जनसंख्या के हिसाब से भारत का सांतवा सबसे अधिक आबादी वाला राज्य है। इसके पश्चिम में पाकिस्तान, दक्षिण पश्चिम में गुजरात, पूर्व में मध्य प्रदेश, उत्तर में पंजाब, उत्तर पूर्व में उत्तर प्रदेश और हरियाणा है।

राजस्थान अपनी सांझी विरासत, कला और संस्कृति के लिए जाना जाता है। घूमने के यहां पर बहुत से किले वगैरह है। यहां को खूबसूरती में अरावली पर्वत माला और माउंट आबू चार चांद लगा देते है। इसी के साथ यहां को राजधानी भी काफी खूबसूरत है और राजस्थान की राजधानी कौन सी है के बारे में आज हम इस आर्टिकल में जानेंगे। इसलिए अंत तक जरूर बने रहे।

राजस्थान की राजधानी क्या है?

राजस्थान की राजधानी जयपुर है। पूरी दुनिया में पिंक सिटी के नाम से मशहूर जयपुर शहर राजस्थान की राजधानी है। जयपुर को “भारत का पेरिस” के नाम से भी जाना जाता है। प्राचीन काल में जयपुर रजवाड़ों की राजधानी हुआ करती थी।

Rajasthan ki rajdhani kahan hai

जयपुर राजस्थान का सबसे बड़ा शहर है, यह शहर 3 ओर से अरावली पर्वत माला से घिरा हुआ है। अगर आपको ऑस्ट्रेलिया की राजधानी और अमेरिका की राजधानी कहाँ है जानना है तो इसे पढ़े।

ये भी पढ़े:-

१. कंबोडिया की राजधानी कहाँ है?
२. असम की राजधानी कहाँ है?

राजस्थान की राजधानी जयपुर को पिंक सिटी क्यों कहा जाता है?

Rajasthan Ki Rajdhani: हर चीज के पीछे एक न एक कारण जरूर ही होता है। कभी कबार लोगों के मन में यह सवाल भी उठता है कि जयपुर को पिंक सिटी नाम कैसे मिला? जब कभी भी आप जयपुर में घूमने जाएं तो आप पाएंगे की जयपुर की सारी दुकानें इमारतें आपको गुलाबी रंग में ही दिखाई देंगी।

इसका कारण यह है की एक बार सन 1876 में इंग्लैंड की महारानी एलिजाबेथ और प्रिंस अल्बर्ट जयपुर आने वाले थे। उस समय जयपुर के महाराजा राम सिंह ने उनके स्वागत के लिए पूरे शहर को गुलाबी रंग से रंगवा दिया और पूरी शहर की सड़कें साफ सुथरी कर के फूल पत्तियां लगाई गई।

क्योंकि गुलाबी रंग मेहमानों के स्वागत को दर्शाता है। उस समय जिसने भी इस शहर को देखा हर कोई इसे गुलाबी नगर कहने लगा। तभी से जयपुर का एक नाम पिंक सिटी भी पड़ गया, दरअसल ये शहर भी राजा जय सिंह का ही बसाया हुआ है और यहां का नाम जयपुर भी उन्ही के नाम पर पड़ा।

देशभारत
स्थापित30 मार्च 1949
राजधानीजयपुर
सबसे बड़ा शहरजयपुर
जिलों33
क्षेत्र342,239 km2

यहां की ज्यादातर इमारतें और किले राजा जय सिंह के समय के ही बनवाए हुए हैं। उन्होंने इस शहर की स्थापना 1727 में करी थी। राजा जय सिंह ने जयपुर पर 1699 से लेकर 1744 तक राज किया था, शुरू में जयपुर की राजधानी आमेर थी। यहां पर भी राजा जय सिंह ने बहुत बड़ा किला बनवाया था जो की आज भी मौजूद है।

यह किला यूनेस्को की विश्व धरोहर में भी शामिल है। बाद में जब यहां आबादी बढ़ती गई तब पानी की कमी के कारण यहां से राजधानी शिफ्ट कर के जयपुर ले जानी पड़ी। राजा जय सिंह ने बंगाल के एक विद्वान विद्याधर चक्रवर्ती की सहायता लेकर इस शहर का निर्माण किया था। चक्रवर्ती जी ने पुरानी खगोल विज्ञान की किताबें पढ़ कर राजा के साथ इस शहर को बनाने की योजना बनाई थी।

राजस्थान की राजधानी जयपुर से जुड़े कुछ रोचक तथ्य।

  • जयपुर भारत का सबसे पुराना योजना के साथ बनाया हुआ शहर है। राजा जय सिंह ने कई छोटे छोटे गांवो को मिलाकर एक शहर बनाया और शहर के चारो तरफ बहुत बड़ी दीवार बनवा दी। शहर के अंदर खाने पीने और अन्य जरूरतों का पूरा प्रबंध कर दिया था ताकि कभी राजा जय सिंह के राज्य पर हमला हो जाए, तो उन्हें और उनकी प्रजा को किसी चीज की कमी न होने पाए।
  • जयपुर की रंगत अब धीरे धीरे बदल रही है, हालही में जयपुर को विश्व के 10 सबसे खूबसूरत शहरो में शामिल किया गया है। जयपुर अब महानगर बनने की ओर चल पड़ा है। जयपुर दुनिया का एक मात्र ऐसा शहर है, जिसमे पुरानी और नई दोनो ही संस्कृति को काफी करीब से देखा जा सकता है।
  • जयपुर अपने बढ़ते कारोबार के कारण राजस्थान की अर्थव्यस्था की रीड की हड्डी बन चुका है। राजस्थान की अर्थव्यस्था में तकरीबन 38% और भारत की अर्थव्यवस्था में 6% योगदान जयपुर का ही होता है। इसके पीछे सबसे बड़ा कारण यहां के पर्यटन स्थल हजयपुर में आयोजित किया जाने वाला “जयपुर लिट्रेचर फेस्टिवल” दुनिया का सबसे बड़ा फ्री लिट्रेचर फेस्टिवल है। जो प्रत्येक वर्ष फरवरी महीने में आयोजित किया जाता है। इस फेस्टिवल को साहित्य का कुंभ भी कहा जाता है। क्योंकि इस कुंभ में देश के बड़े बड़े लेखक, एथलीट, राजनेता, अभिनेता, बिजनेसमैन हर साल अपनी मौजूदगी दर्ज कराते हैं और एक ही मंच पर खड़े हो कर अपने विचार को प्रकट करते हैं।
  • राजस्थान की राजधानी जयपुर को भारत के स्वर्णिम त्रिभुज यानी गोल्डन ट्राइंगल का हिस्सा माना जाता है। इसमें भारत के मुख्य रूप से 3 शहर शामिल हैं जिसमे दिल्ली, जयपुर और आगरा आते है।

राजस्थान की राजधानी जयपुर के प्रमुख पर्यटन स्थल

  1. सिटी पैलेस
  2. जंतर मंतर
  3. हवा महल
  4. आमेर का किला
  5. अल्बर्ट हॉल संग्रहालय
  6. बिरला मंदिर
  7. नाहरगढ़ किला
  8. गलता जी
  9. आम्रपाली संग्रहालय
  10. विरासत का संग्रहालय
जनसंख्या (2011)68,548,437
साक्षरता (2011)66.1%
लिंग अनुपात (2011)928 ♀/1000 ♂
भाषाएंहिंदी | अंग्रेजी | राजस्थानी | मेवाती

जयपुर राजस्थान की राजधानी कब बनी?

जयपुर राजस्थान की राजधानी साल 1956 में बनी।

राजस्थान की राजधानी जयपुर को और किस नाम से जाना जाता है?

राजस्थान की राजधानी जयपुर को पिंक सिटी के नाम से जाना जाता है। इसके साथ ही इस शहर को भारत का पेरिस भी कहा जाता है।

राजस्थान की राजधानी जयपुर की खासियत क्या है?

जयपुर में घूमने लायक बहुत से किले और महल के साथ ही साथ ही यहां की संस्कृति और कला इस शहर को खास बनाती है।

जयपुर की सबसे प्रसिद्ध पर्यटन स्थल कौन सी है?

जयपुर का हवा महल यहां के सबसे प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है।

निष्कर्ष

तो दोस्तों आज के इस आर्टिकल में आपने राजस्थान की राजधानी कहाँ है के बारे में काफी कुछ जाना। अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना बिल्कुल भी ना बोले जिससे उन्हें भी जयपुर के बारे में जानकारी हो सके।

Leave a Comment