SDM अफसर कैसे बने?

अगर आप SDM की तैयारी में हो या फिर आपको SDM कैसे बनते हैं के बारे में पता नहि है तो इस लेख को जरुर पढ़ें।

Sdm Kaise Bane: इंडिया में हर व्यक्ति को कोई नौकरी सबसे ज्यादा पसंद आती है, तो वह होती है गवर्नमेंट नौकरी, क्योंकि गवर्नमेंट नौकरी प्राइवेट नौकरी की तुलना में बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होती है।आप यह समझ लीजिए कि, जिस व्यक्ति की गवर्नमेंट नौकरी लग जाती है, उसे समाज में मान सम्मान तो मिलता ही है, साथ ही उसके साथ शादी करने के लिए लड़के और लड़कियां तैयार रहते हैं।

क्योंकि Government नौकरी में नौकरी की गारंटी होती है, इसीलिए कई विद्यार्थी गवर्नमेंट नौकरी पाने के लिए अपनी जी जान लगा देते हैं, क्योंकि उन्हें पता होता है कि अगर उन्होंने गवर्नमेंट नौकरी पा ली, तो उनकी पूरी लाइफ सेटल हो जाएगी। तो चलिए आज हम आपको इस लेख में बताएँगे की एसडीएम कैसे बने इन हिंदी में।

SDM कैसे बने?

SDM कैसे बनते हैं की नौकरी भी गवर्नमेंट नौकरी के अंदर ही आती है। इसके अंदर काफी अच्छी सैलरी एसडीएम के पद पर काम करने वाले व्यक्ति को प्राप्त होती है।

SDM Kaise Bane

अगर आप भी एसडीएम बनना चाहते हैं, तो इस आर्टिकल में आप जानेंगे कि, एसडीएम कैसे बने तथा एसडीएम बनने की पूरी प्रोसेस क्या है।

एसडीएम किसे कहते हैं?

SDM को अंग्रेजी भाषा में सब डिविजनल मजिस्ट्रेट कहा जाता है। यह गवर्नमेंट जॉब होती है, जिसमें व्यक्ति को काफी जिम्मेदारी वाला काम निभाना पड़ता है। हर जिले में कम से कम एक व्यक्ति एसडीएम की पोस्ट पर अवश्य पोस्टेड होता है। यह डीएम के नीचे का पद होता है और डीएम एसडीएम के ऊपर का पद होता है।

#1. SDM बनने के लिए क्वालिफिकेशन

ऐसे अभ्यर्थी जो एसडीएम बनना चाहते हैं या फिर भविष्य में एसडीएम बनने के बारे में सोच रहे हैं, उन्हें यह पता होना चाहिए कि एसडीएम बनने के लिए कितनी पढ़ाई करनी पड़ती है।

SDM बनने के लिए अभ्यर्थी को इंडिया के किसी भी सर्टिफाइड यूनिवर्सिटी से किसी भी कोर्स में ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल करनी पड़ती है, क्योंकि एसडीएम की पोस्ट के लिए ग्रेजुएट व्यक्ति ही अप्लाई कर सकता है।

#2. एसडीएम बनने के लिए नागरिकता

इंडिया में देश के नागरिक एसडीएम तो बन ही सकते हैं, साथ ही ऐसे अभ्यर्थी जो नेपाल या फिर भूटान के निवासी हैं, वह भी इंडिया में सब डिविजनल मजिस्ट्रेट की पोस्ट को प्राप्त करने के लिए इसकी एग्जाम में शामिल हो सकते हैं और एसडीएम बनने की कोशिश कर सकते हैं।

#3. एसडीएम बनने के लिए Age लिमिट

  • कम से कम 21 साल और अधिक से अधिक 40 साल की उम्र तक वाले जरनल कैटेगरी के अभ्यर्थी SDM बन सकते हैं।
  • अदर बैकवर्ड क्लास (OBC) के अभ्यर्थी कम से कम 21 साल और अधिक से अधिक 45 साल की उम्र तक एसडीएम की पोस्ट प्राप्त कर सकते हैं।
  • अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के अभ्यर्थी कम से कम 21 की उम्र और अधिक से अधिक 45 साल की उम्र तक SDM बनने का प्रयास कर सकते हैं।
  • शारीरिक रूप से दिव्यांग व्यक्ति कम से कम 21 साल और अधिक से अधिक 55 साल की उम्र तक एसडीएम बन सकता है।

#4. एसडीएम बनने के लिए डॉक्यूमेंट

एसडीएम बनने के लिए आपके पास दसवीं कक्षा, बारहवीं कक्षा की मार्कशीट और ग्रेजुएशन की डिग्री होनी चाहिए। इसके अलावा आपके पास आधार कार्ड, ऐड्रेस प्रूफ, डिजिटल सिग्नेचर भी होना चाहिए। साथ ही आपके पास रंगीन फोटो भी होनी चाहिए। इन सभी की आवश्यकता आपको एसडीएम की एग्जाम में शामिल होने के लिए ऑनलाइन फॉर्म भरते समय होगी।

#5. SDM की सिलेक्शन प्रोसेस

सब डिविजनल मजिस्ट्रेट (SDM) बनने के लिए अभ्यर्थियों को मुख्य तौर पर तीन चरणों से गुजरना होता है,जिसमें सबसे पहले अभ्यर्थी को एसडीएम की प्रारंभिक परीक्षा, उसके बाद मुख्य एग्जाम और सबसे आखरी में इंटरव्यू में शामिल होना पड़ता है।

सभी चरणों को पार करने के बाद उसे ट्रेनिंग के लिए भेजा जाता है और फिर उसके बाद उसे एसडीएम की पोस्ट दी जाती है।

#6. SDM की प्रारंभिक परीक्षा का पैटर्न

एसडीएम की प्रारंभिक परीक्षा में टोटल 2 क्वेश्चन पेपर होते हैं, जिसमें पहला पेपर सामान्य ज्ञान-1 का होता है जो 200 अंको का होता है,वही दूसरा क्वेश्चन पेपर सामान्य ज्ञान-2 का होता है,यह भी 200 अंकों का होता है।

#7. एसडीएम की मुख्य परीक्षा का पैटर्न

प्रारंभिक परीक्षा को पास करने के बाद अभ्यर्थियों को एसडीएम बनने की मुख्य परीक्षा में शामिल होना पड़ता है, जिसमें नीचे बताए गए सब्जेक्ट से संबंधित क्वेश्चन पूछे जाते हैं।

  • हिंदी: यह क्वेश्चन पेपर 150 मार्क का होता है।
  • निबंध: यह टोटल 150 अंकों का होता है ।
  • सामान्य अध्ययन 1: यह टोटल 200 अंकों का होता है।
  • सामान्य अध्ययन 2: यह टोटल 200 अंकों का होता है।
  • सामान्य अध्ययन 3: यह टोटल 200 अंकों का होता है।
  • सामान्य अध्ययन 4: यह टोटल 200 अंकों का होता है।
  • वैकल्पिक विषय पेपर 1: यह टोटल 200 अंकों का होता है।
  • वैकल्पिक विषय पेपर 2: यह टोटल 200 अंकों का होता है।

इंटरव्यू

जब अभ्यर्थी सब डिविजनल मजिस्ट्रेट (SDM) बनने की प्रारंभिक परीक्षा में शामिल होकर उसे पास करता है,तो उसके बाद उसे मुख्य परीक्षा में शामिल होना पड़ता है। मुख्य परीक्षा को पास करने के बाद अभ्यर्थियों को सबसे आखिरी राउंड यानी कि Sdm interview में एक निश्चित दिन पर बुलाया जाता है।

इंटरव्यू के अंदर अभ्यर्थी से विभिन्न प्रकार के टिपिकल और मानसिक क्षमता का आकलन करने वाले क्वेश्चन इंटरव्यू लेने वाले लोगों की टीम के द्वारा पूछा जाता है।

अगर व्यक्ति इस इंटरव्यू में अच्छी परफॉर्मेंस देता है, तो उसके बाद उसका सिलेक्शन सब डिविजनल मजिस्ट्रेट (SDM) के पद के लिए हो जाता है,जिसके बाद अभ्यर्थी को देहरादून या फिर मसूरी सिटी में भेजा जाता है।

जहां पर 6 महीने या फिर 1 साल तक उसे ट्रेनिंग प्राप्त करनी होती है और जब वह अपने ट्रेनिंग कंप्लीट कर लेता है, तो उसे एसडीएम की पोस्ट दे दी जाती है। इसके बाद वह एसडीएम बन कर अपना काम स्टार्ट कर सकता है। एसडीएम की ट्रेनिंग के दरमियां इनकी सैलरी भी बनती है, जो ट्रेनिंग पूरी करने के बाद इन्हें दी जाती है।

एसडीएम ऑफिसर की सैलरी

SDM Salary: इंडिया में सातवें वेतन आयोग के लागू होने के बाद एसडीएम की सैलरी में बढ़ोतरी हो गई है।इस प्रकार वर्तमान के टाइम में महीने में टोटल ₹70,000 से लेकर ₹80,000 तक की सैलरी एक एसडीएम ऑफिसर को प्राप्त होती है।

कुल मिलाकर इनकी महीने की सैलरी एक लाख के आसपास तक पहुंच जाती है। इसके अलावा भी इन्हें गवर्नमेंट की तरफ से अन्य कई सुविधाएं प्रदान की जाती है।

क्या एसडीएम की पोस्ट प्राप्त करने के लिए किसी पर्टिकुलर कोर्स से ग्रेजुएशन करना आवश्यक है?

जी नहीं, यह आवश्यक नहीं है। आपने चाहे कोई भी डिग्री हासिल करके अपनी ग्रेजुएशन कंप्लीट क्यों न की हो, आप एसडीएम की एग्जाम में शामिल हो सकते हैं।

एसडीएम की परीक्षा की तैयारी करने के लिए क्या करें?

एसडीएम की परीक्षा की तैयारी करने के लिए कोचिंग इंस्टिट्यूट ज्वाइन करें,पुराने एसडीएम की एग्जाम के प्रश्न पत्रों को हल करने की कोशिश करें,यूट्यूब पर मौजूद एजुकेशनल वीडियो देखें, करंट अफेयर पर ध्यान दें इत्यादि।

क्या एसडीएम बनने के लिए अलग-अलग वर्गों के लिए उम्र सीमा तय की गई है?

जी हां एसडीएम बनने के लिए अलग-अलग वर्गों के लिए उम्र सीमा तय की गई है।

Conclusion

इस आर्टिकल को यहां तक पढ़ने के बाद SDM कैसे बने? इस प्रश्न का सीधा और स्पष्ट जवाब मिल चुका होगा अगर आप यहां दी गई जानकारी से संतुष्ट हैं तो इसे साझा करने के साथ साथ हमें कमेंट करना ना भूलें।

Leave a Comment