उत्तर प्रदेश की राजधानी कहाँ है?

उत्तर प्रदेश की राजधानी हिंदी में और उत्तर प्रदेश की राजधानी कौन सी है के बारेमे अधिक जानकारी प्राप्त करने केलिए अंत तक बने रहे।

चलिए Uttar Pradesh Ki Rajdhani Kahan Hai का इतिहास के बारेमे कुछ जन लेते हैं। उत्तर प्रदेश राज्य को अंग्रेजों के जमाने में यूनाइटेड प्रोविंस भी कहा जाता था। उत्तर प्रदेश ही भारत का एक ऐसा राज्य है, जहां पर कोई महिला पहली बार राज्यपाल बनी थी। उत्तर प्रदेश के साथ साथ गुजरात की राजधानी कहाँ है के बारेमे जानने केलिए इसे जरुर पढ़ें और आज हम देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश की राजधानी क्या है? इस लेख में जानेंगे।

2,43,290 वर्ग किलोमीटर में फैला उत्तर प्रदेश राज्य साल 1950 में 26 जनवरी के दिन अस्तित्व में आया था। 75 जिलों वाला उत्तर प्रदेश राज्य देश का सबसे अधिक जिलों वाला राज्य है। तो आज हम उत्तर प्रदेश की राजधानी का नाम क्या है और इससे जुड़े कई अहम तथ्य इस आर्टिकल में जानेंगे अतः इस लेख को अंत तक ध्यानपूर्वक जरूर पढ़े।

उत्तर प्रदेश की राजधानी क्या है?

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ है, जिसको नवाबों का शहर कहा जाना वाला लखनऊ शहर है। साल 1921 में लखनऊ को उत्तर प्रदेश की राजधानी बनाया गया था। यह शहर अपनी खास नज़ाकत, दशहरी आम के लिए जाना जाता है।

uttar pradesh ki rajdhani kya hai

यहां का क्षेत्रफल 2,528 वर्ग किलोमीटर है और 2011 की जनगणना के अनुसार यहां की आबादी 28,17,105 थी। इस आबादी की वजह से लखनऊ यहां का ग्यारवाह सबसे ज्यादा जनसंख्या वाला शहर भी है। अगर आपको ऑस्ट्रेलिया की राजधानी और अमेरिका की राजधानी कहाँ है जानना है तो इसे पढ़े।

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से जुड़े कुछ अनोखे तथ्य।

Uttar Pradesh Ki Rajdhani के बारेमे हम कुछ अनोखे तथ्य नीचे दिए हुए हैं। नीचे दिए हुए तथ्य से आपको इतिहास, फसल, जनसंख्या, परंपरा, लिट्रेसी और नदी के बारेमे पता चल जायेगा।

  • लखनऊ सिर्फ उत्तर प्रदेश की राजधानी ही नही बल्कि इस प्रदेश का सबसे बड़ा शहर भी है।
  • लखनऊ अपने पुराने ऐतिहासिक इमारतों के साथ साथ एक नए मेट्रोपोलिटियन शहर के रूप में भी उभर के सामने आया है।
  • लखनऊ, उत्तर प्रदेश का एडमिनिस्ट्रेटिव हैडक्वाटर भी है।
  • लखनऊ का नाम पहले लखनपुर हुआ करता था।
  • लखनऊ की शान इमामबाड़ा साल 1784 में बनवाया गया था। इस इमामबाड़े का हॉल एशिया का सबसे बड़ा हॉल है। यह कहा जाता है की इस इमामबाड़े की छत पर जाने के लिए तो हजारों उपाय मिल जाएंगे, लेकिन नीचे उतरने के लिए केवल एक ही उपाय है।
  • लखनऊ शहर को हैपी सिटी भी कहा जाता है, मतलब खुशियों का शहर क्योंकि लखनऊ को दूसरा खुशियों का शहर खिताब मिला है।
  • लखनऊ को नवाबों का शहर भी कहा जाता है। साल 1700 और 1800 में यहां पर नवाबों का शासन हुआ करता था। आज भी लखनऊ में आकर पुरानी इमारतें और मॉन्यूमेंट्स देखने को मिल जाएंगे, जो यहां के नवाबी शासन कॉल की याद दिलाते है।
  • लखनऊ में हुसैनबाग क्लॉक टावर भारत का सबसे ऊंचा क्लॉक टावर है। इसे साल 1881 में नवाब नसीरुद्दीन हैदर ने बनवाया था।
  • लखनऊ के हजरतगंज में आपको एक भी इलेक्ट्रिसिटी वायर्स देखने को नहीं मिलेंगे। यहां पर बिजली अंडरग्राउंड तारो के जरिए सप्लाई की जाती है।
  • लखनऊ रेलवे स्टेशन, जिसे चारबाग रेलवे स्टेशन के नाम से जाना जाता है, भारत के सबसे अच्छे रेलवे स्टेशन्स में से एक है।
  • लखनऊ को भारत का प्रथम सीसीटीवी शहर का दर्जा दिया गया है। यहां पर लगभग 4000 सीसीटीवी कैमरे लगे हुए है।
  • लखनऊ 18वीं सदी के मध्य में नवाब सिराज उद दौला के शासन के दौरान हर प्रकार से कला, संस्कृति सभी क्षेत्रों में विकास की अग्रसर हुआ।

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के अनोखे पर्यटन स्थल

#1. दिलकुशा कोठी

यह शानदार जगह लखनऊ में गोमती नदी के किनारे दिलकुशा गार्डन में बनी हुई है। इस कोठी का इस्तेमाल भारत की आजादी की पहली लड़ाई के दौरान स्वतंत्रता सेनानियो द्वारा किया जाता था। मगर वर्तमान समय में यह प्राचीन स्मारक एक खंडहर में तब्दील हो चुका है और पर्यटकों का केंद्र बिंदु बन गया है।

#2. जनेश्वर मिश्र पार्क

यह पार्क तकरीबन 376 एकड़ के क्षेत्र में फैला हुआ। यह पार्क गोमती नगर में स्थित है, जोकि समाजवादी नेता और छोटे लोहिया के नाम से विख्यात जैनेश्वर मिश्र जी को समर्पित है। इस खूबसूरत पार्क में 40 एकड़ में फैली एक आकर्षक झील बनी हुई है। साथ ही साथ यहां पर पर्यटकों की जानकारी बढ़ाने के लिए एक लड़ाकू विमान भी रखा गया है।

#3. साइंस सिटी

यह शानदार साइंस स्पॉट अलीगंज इलाके में बना हुआ है। जहां पर पर्यटक विज्ञान और ब्रह्माण्ड से जुड़ी बहुत सारी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। यहां पर एक साइंस म्यूज़ियम भी बना हुआ है जहां पर पर्यटक विज्ञान से संबंधित अदभुत चीजों का संग्रह देख सकते है।

#4. चंद्रिका देवी मंदिर

लखनऊ का यह खूबरूरत मंदिर गोमती नदी के किनारे सीतापुर मार्ग पर बना हुआ है, जोकि तकरीबन 300 साल पुराना माना जाता है। यह मंदिर हिंदू देवी मां दुर्गा को समर्पित है, क्योंकि चंद्रिका देवी मां दुर्गा का ही एक रूप मानी जाती हैं।

#5. अमीनाबाद

अमीनाबाद लखनऊ का एक प्रसिद्ध बाजार है, जो 165 साल पुराना माना जाता है। यह बाजार बहुत बड़े इलाके में फैला हुआ है। लगभग 400 साल पुरानी चिकनकारी कला का कपड़ा इस बाजार की विशेषता है।

#6. ब्रिटिश रेजिडेंसी

यह जगह लखनऊ की सबसे महत्त्वपूर्ण और ऐतिहासिक जगहों में गिनी जाती है। जहां पर 18वीं शताब्दी की अंग्रेजो द्वारा बनवाई गई कई इमारतें मौजूद हैं। पर्यटक यहां के बने संग्रहालय को भी देख सकते हैं, जो उस समय के हुए विद्रोह को बखूबी बयां करता है।

#7. अंबेडकर मेमोरियल पार्क

डॉक्टर भीम राव अंबेडकर जी को समर्पित इस पार्क का निर्माण साल 2008 में उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री सुश्री मायावती जी ने करवाया था, जो वर्तमान में आधुनिक लखनऊ की छवि बयां करता है। यह पार्क पूरी तरह से लाल बलुआ पत्थर से बना हुआ है और हमेशा से ही पर्यटक केंद्र के मुख्य रूप में देखा जाता है। यह पार्क गोमती नदी के किनारे पर स्तिथ है।

#8. गोमती रिवर फ्रंट

गोमती रिवर फ्रंट लखनऊ की आन बान और शान बयां करता है। गोमती नदी के किनारे पर निर्माण करवा कर इस नदी की खूबसूरती को चार चांद लगा दिया गया है। यहां पर रात में एलईडी लाइट शो, और फव्वारो का अनोखा मेल देखने को मिलता है।

लखनऊ उत्तर प्रदेश की राजधानी कब बनी?

लखनऊ उत्तर प्रदेश की राजधानी साल 1950 में बनी।

लखनऊ किस चीज की लिए सबसे ज्यादा प्रसिद्ध है?

लखनऊ अपनी तहजीब, चिकनकारी, दशहरी आम के लिए प्रसिद्ध है।

लखनऊ का पुराना नाम क्या है?

लखनऊ का पुराना नाम लखनपुर है।

लखनऊ को किस चीज की उपाधि दी गई है?

लखनऊ को नवाबों का शहर नाम की उपाधि दी गई है।

निष्कर्ष

तो दोस्तो आज के इस आर्टिकल में आपने उत्तर प्रदेश राज्य की राजधानी क्या है या, लखनऊ के बारे काफी कुछ जाना, अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो इसे शेयर करना बिलकुल भी न भूले।

Leave a Comment